IND vs IRE 2nd T20: विस्फोटक बल्लेबाज दीपक हुड्डा के शानदार शतक की मदद से भारत ने मंगलवार को डबलिन में सीरीज के दूसरे और अंतिम टी-20 मैच में आयरलैंड को चार रनों से हराकर दो मैचों की सीरीज 2-0 से जीत ली। दायें हाथ के बल्लेबाज दीपक ने अपने अंतरराष्ट्रीय करियर का पहला शतक जड़ा और वह टी-20 अंतरराष्ट्रीय में शतक लगाने वाले चौथे भारतीय बल्लेबाज बन गए। उन्होंने 104 रनों की अपनी शतकीय पारी के दौरान 57 गेंदों का सामना किया जिसमें उन्होंने नौ चौके और छह छक्के शामिल हैं। हुड्डा का अच्छा साथ संजू सैमसन ने निभाया जिन्होंने 77 रनों की अर्धशतकीय पारी खेली। संजू ने इस दौरान 42 गेंदों में नौ चौके और चार छक्के लगाए। दोनों बल्लेबाजों ने दूसरे विकेट के लिए 87 गेंदों में 176 रनों की दमदार साझेदारी निभाई। दोनों की पारियों की मदद से भारत ने निर्धारित 20 ओवर में सात विकेट पर 225 रन बनाए।

जवाब में आयरलैंड की टीम पांच विकेट खोकर 221 का स्कोर कर मैच हार गई। टीम के लिए कप्तान बालबर्नी ने सर्वाधिक 60 रन बनाए। लक्ष्य का पीछा करने उतरी आयरलैंड की टीम ने शुरुआत से आक्रामक अंदाज अपनाया और शुरुआती पांच ओवर में बिना विकेट गंवाए 65 रन बनाए। बिश्नोई के पारी के छठे ओवर की चौथी गेंद पर स्टर्लिंग (40) छक्का जड़ने के प्रयास में बोल्ड हो गए। कप्तान बालबर्नी ने एक रन के साथ अपना पचासा पूरा किया और पारी के 11वें ओवर की हर्षल की पहली गेंद पर चौका, फिर अगली गेंद पर छक्का जड़ दिया। तीसरी गेंद पर वह बिश्नोई को कैच देकर पवेलियन लौट गए। इस बीच, उमरान मलिक ने टकर (05) को आउट करके अंतरराष्ट्रीय क्रिकेट में अपना पहला विकेट लिया। आखिरी ओवर में आयरलैंड को जीतने के लिए 17 रन चाहिए थे। उमरान दूसरी और तीसरी गेंद पर एडेर से चौका खा बैठे जिससे कप्तान हार्दिक की चिंता बढ़ गई। लेकिन उमरान ने फिर शानदार वापसी करके बिना कोई रन दिए मेजबानों को लक्ष्य हासिल करने नहीं दिया।

हुड्डा की दावेदारी मजबूत : आयरलैंड के विरुद्ध बल्लेबाजों को अजमाने का यह आखिरी मौका था क्योंकि इसके बाद भारतीय टीम को इंग्लैंड के विरुद्ध टी-20 सीरीज खेलनी है और इसके लिए टीम का चयन होना बाकी है। इस साल होने वाले टी-20 विश्व कप के लिए भी टीम चुनी जानी है और ऐसे में हुड्डा ने शतक जड़कर टीम में शामिल होने के लिए अपनी मजबूत दावेदारी ठोक दी।

तीन विकेटकीपर अंतिम एकादश में : इससे पहले भारतीय कप्तान हार्दिक पांड्या ने टास जीतकर पहले बल्लेबाजी करने का फैसला किया और अंतिम एकादश में तीन बदलाव किए। चोटिल रुतुराज गायकवाड़ की जगह संजू सैमसन को मौका दिया गया। हर्षल पटेल को तेज गेंदबाज आवेश खान की जगह जबकि युजवेंद्रा सिंह चहल के स्थान पर रवि बिश्नोई को अंतिम एकादश में जगह दी गई। भारतीय अंतिम एकादश में तीन विकेटकीपर बल्लेबाज खेल रहे हैं और जिसमें इशान किशन और संजू सैमसन ओपनिंग करने उतरे।

हुड्डा और संजू ने संभाला : इशान जल्दी ही पवेलियन लौट और तीन रन के निजी स्कोर पर एडेर ने उन्हें चलता किया। इसके बाद संजू और दीपक ने आयरलैंड के गेंदबाजों की जमकर धुनाई और उन्हें विकेट के लिए तरसा दिया। दोनों ही बल्लेबाजों ने अपनी पसंदीदा शाट्स खेलकर रन बटोरे। हुड्डा ने पारी का छठा ओवर करने आए यंग की पहली गेंद पर छक्का जड़ दिया तो संजू ने तीसरी और छठी गेंद पर चौके लगाकर भारत का स्कोर पावरप्ले के शुरुआती छह ओवर में एक विकेट पर 54 रन कर दिया। पारी का आठवां ओवर करने आए ओल्फर्ट की आखिरी गेंद स्टर्लिंग ने उनका कैच टपका दिया। हुड्डा ने 27 गेंदों में अपना पचासा पूरा किया। हुड््‌डा ने इस मौके का अच्छे से फायदा उठाया और फिर 10वें ओवर में दो छक्के और 11वें ओवर में दो चौके लगाकर स्कोर बोर्ड को चलाते रहे। वहीं, संजू भी दूसरे छोर से रन बनाते रहे। इस बीच, संजू ने टी-20 अंतरराष्ट्रीय में अपना पहला अर्धशतक लगाया। तो हुड्डा ने हर शाट गेंदों का फायदा उठाते हुए उसे सीमा रेखा के पार भेजा।

अंतिम ओवरों में गिरे विकेट : पारी का 17वां ओवर कर रहे एडेर की पहली खराब गेंद को संजू ने छक्का जड़ दिया। लेकिन अगली गेंद पर वह बोल्ड हो गए। फिर सूर्यकुमार यादव ने पांचवीं और छठी गेंद पर छक्का और चौका लगाकर टीम के 200 रन पूरे किए। इस बीच, हुड्डा ने एक रन लेकर अंतरराष्ट्रीय क्रिकेट में अपना पहला शतक पूरा किया। 55 गेंदों में उन्होंने अपना शतक पूरा किया। लेकिन लिटिल ने सूर्यकुमार को आउट करके दूसरे छोर से मेहमानों के विकेट गिराने शुरू कर दिए। फिर लिटिल ने हुड्डा को पवेलियन भेजकर उनकी शानदार पारी का अंत किया। अंतिम ओवरों में 19वें ओवर की यंग की पांचवीं और छठी गेंद पर दिनेश कार्तिक (00) और अक्षर पटेल (00) आउट हुए तो आखिरी ओवर में एडेर ने हर्षल पटेल (00) को आउट किया।

Posted By: Arvind Dubey

  • Font Size
  • Close