पुणे (एजेंसियां)। भारत और दक्षिण अफ्रीका के बीच जारी सीरीज में खिलाड़ियों के बीच वैसे तो अब तक कोई अप्रिय वाकया नहीं हुआ है। लेकिन यहां खेले जा रहे दूसरे टेस्ट में दक्षिण अफ्रीकी गेंदबाज कगिसो रबाडा ने छींटाकशीं की। इसका खुलासा भारतीय बल्लेबाज चेतेश्वर पुजारा ने किया। पुजारा ने बताया कि तेज गेंदबाज कगिसो रबाडा ने उनपर छींटाकशीं की। हालांकि पुजारा ने उन्हें पूरी तरह नजरअंदाज किया। पुजारा ने कहा कि वे चाहते तो जवाब दे सकते थे, लेकिन इससे रबाडा अपनी रणनीति में कामयाब हो जाते। वे उनका ध्यान भटकाने की पूरी कोशिश कर रहे थे।

पुजारा ने बताया - रबाडा ने मुझसे छींटाकशी करने की कोशिश की। वे मुझे परेशान करने की कोशिश कर रहे थे, लेकिन मैं अपने ही जोन में था। मुझे याद नहीं है कि वे क्या कह रहे थे, लेकिन वे उनमें से एक हैं जो हमेशा बल्लेबाजों को कुछ ना कुछ कहना पसंद करते हैं। यदि आप अपने जोन में होते हो तो आप मुश्किल से सुन पाते हो। बल्लेबाज होने के नाते आपको ऐसा करना भी चाहिए। ऐसे में जब आप अपने जोन में होते हो तो चूक जाते हो कि कोई क्या कह रहा है। मैंने भी यही किया। मैंने उन्हें नजरअंदाज कर दिया। वे चाहते थे कि मैं परेशान हो जाऊं। पुजारा ने बताया कि दरअसल रबाडा इसलिए नाराज थे क्योंकि वे उन्हें शून्य पर आउट कर सकते थे, लेकिन तेंबा बावुमा ने कैच छोड़ दिया। इसके बाद पुजारा ने अर्द्धशतक जमाया। हालांकि रबाडा ने बाद में पुजारा का विकेट लिया। पुजारा को विकेट के पीछे डी कॉक ने कैच किया। पुजारा ने 112 गेंदों कका सामना करते हुए 9 चौकों और 1 छक्के की मदद से 58 रन बनाए।

रबादा अपनी लय में लौट रहे हैं - बर्न्स

उधर दक्षिण अफ्रीका के गेंदबाजी कोच विसेंट बर्न्स का मानना है कि रबाडा ने दूसरे टेस्ट में भोजनकाल के बाद जिस तरह का स्पैल डाला उससे साफ है कि वे टेस्ट क्रिकेट में अपनी लय दोबारा पा रहे हैं। बर्न्स ने कहा - रबाडा को गेंदबाजी करते देखना शानदार था। खास तौर पर भोजनकाल के बाद। मुझे लगता है कि उन्होंने विशाखापट्टनम में भी अच्छी गेंदबाजी की। गुरुवार को उन्होंने संकेत दिए कि वे दोबारा से शीर्ष पर पहुंच रहे हैं। मुझे लगता है कि इस तरह के विकेट पर संयम तेज गेंदबाजों के लिए जरूरी होता है। रबाडा ने इसी संयम से पुजारा का विकेट लेकर दिखाया। हम इस दौरे पर अपनी मजबूती के साथ गेंदबाजी करना चाहते हैं। रणनीति यही है कि विकेट पर संयम बरता जाए। हमने ठीक जगह पर गेंदबाजी की और उन्होंने गलती की। पुजारा एक समय सेट हो चुके थे और रबाडा ने सही जगह पर गेंद डाली और वह विकेट लेने में कामयाब रहे।