रांची (एजेंसियां)। भारत और दक्षिण अफ्रीका के बीच यहां खेले जा रहे तीसरे और अंतिम टेस्ट में आखिरकार विकेटकीपर रिषभ पंत को खेलने का मौका मिल ही गया। दरअसल रिद्धिमान साहा के चोटिल होकर बाहर होने से पंत को मैदान में उतारा गया और फिर तीसरे दिन के अंतिम सत्र में उन्होंने विकेटकीपिंग की।

बता दें कि खराब प्रदर्शन के चलते रिषभ पंत को टेस्ट सीरीज में नहीं खिलाया गया। उनके स्थान पर रिद्धिमान साहा को प्लेइंग इलेवन में शामिल किया गया। साहा ने तीनों ही टेस्ट में शानदार प्रदर्शन किया है। उन्होंने अपनी लाजवाब विकेटकीपिंग से टीम प्रबंधन के फैसले को सही ठहराया। लेकिन यहां खेले जा रहे तीसरे टेस्ट के तीसरे दिन अंतिम सत्र में साहा चोटिल हो गए।

दक्षिण अफ्रीका की दूसरी पारी में 27वें ओवर का खेल चल रहा था। स्पिनर आर अश्विन की एक नीची आती हुई गेंद पर कैच लेने की कोशिश करने के दौरान साहा को चोट लग गई। साहा को जैसे ही लगी वे दर्द से कराह उठे। साथी खिलाड़ियों ने उनकी मदद की। टीम के डॉक्टर तुरंत मैदान में पहुंचे और उनकी जांच की। लेकिन डॉक्टर की सलाह पर विराट ने साहा को बाहर भेजने का फैसला किया। इसके बाद स्थानापन्न खिलाड़ी के रुप में रिषभ पंत को बुलाया गया और दिन का खेल समाप्त होने तक उन्होंने ही विकेटकीपिंग की।

रिद्धिमान साहा को साउथ अफ्रीका के खिलाफ विकेटकीपिंग करते हुए 26.1 ओवर में चोट लगी। आर अश्विन की एक नीची रहती गेंद को पकड़ने के दौरान साहा चोटिल हो गए। चोट इतनी गंभीर थी कि उनको मैदान से बाहर जाना पड़ा। साहा के बाहर जाने के बाद रिषभ पंत उनकी जगह विकेटकीपिंग करने आए।

बता दें कि रिषभ पंत को लगातार कई मौके मिले, लेकिन इंग्लैंड में हुए वर्ल्ड कप के समय से उनका खराब प्रदर्शन का दौर जारी रहा। वेस्टइंडीज के खिलाफ टी20 और टेस्ट सीरीज में भी वे उम्मीद के मुताबिक नहीं खेल पाए। उसके बाद दक्षिण अफ्रीका के खिलाफ टी20 सीरीज में भी रिषभ प्रभाव नहीं छोड़ पाए। इस खराब प्रदर्शन का खामियाजा रिषभ को चुकाना पड़ा और उन्हें टेस्ट सीरीज से बाहर कर दिया गया। उनकी जगह टेस्ट सीरीज में अनुभवी विकेटकीपर रिद्धिमान साहा को प्लेइंग इलेवन में शामिल किया गया। साहा ने इस सीरीज में जबर्दस्त कीपिंग की है और कई हैरतअंगेज कैच भी लिए हैं।

Posted By: Rahul Vavikar