रांची। Ind vs SA 3rd Test: भारतीय कप्तान विराट कोहली का मानना है कि बीसीसीआई को टॉप टीमों के खिलाफ आगामी घरेलू टेस्ट सीरीज के लिए पांच स्थायी टेस्ट केंद्र (टेस्ट वेन्यू) बना देना चाहिए। उनके अनुसार इस मामले में बीसीसीआई को ऑस्ट्रेलिया और इंग्लैंड के क्रिकेट बोर्ड्स के पैटर्न का अनुसरण करना चाहिए।

ऑस्ट्रेलिया में बड़ी टीमों के खिलाफ टेस्ट मैच मेलबर्न, सिडनी, पर्थ, ब्रिस्बेन और एडिलेड में कराए जाते हैं। इसी तरह इंग्लैंड में लॉर्ड्स, ओवल, ट्रेंटब्रिज, ओल्ड ट्रैफर्ड, एजबेस्टन, साउथम्पटन और हैडिंग्ले के रूप में सात प्रमुख टेस्ट सेंटर्स हैं। एशेज सीरीज और भारत के खिलाफ सीरीज के मुकाबले इन केंद्रों पर ही कराए जाते हैं।

विराट रांची में खाली पड़े जेएससीए स्टेडियम के बारे में पूछे गए सवाल के जवाब में बोल रहे थे। उन्होंने कहा, यह एक बड़ा सवाल है और हम इस पर लंबे समय से विचार-विमर्श कर रहे थे। मेरी राय में तो पांच चिन्हित टेस्ट सेंटर्स होना चाहिए। यदि आपको टेस्ट क्रिकेट को जिंदा रखना है तो इससे ज्यादा केंद्र नहीं होना चाहिए। ऐसे में भारत का दौरा करने वाली टीमों को भी मालूम रहेगा कि उन्हें किस सेंटर्स पर टेस्ट मैच खेलना है। बीसीसीआई के अध्यक्ष बनने जा रहे सौरव गांगुली के सामने अब इस मामले को सुलझाने का दायित्व भी रहेगा।

बीसीसीआई रोटेशन नीति अपनाता है और अब उसके पास 15 से ज्यादा टेस्ट केंद्र मौजूद हैं। विराट ने कहा, मैं इस बात से सहमत हूं कि आपको राज्य एसोसिएशनों को रोटेशन नीति से मैच आवंटित करना होते हैं लेकिन टेस्ट क्रिकेट को इससे अलग रखना चाहिए। टी20 और वनडे क्रिकेट में ऐसा किया जाना ठीक है लेकिन टेस्ट क्रिकेट के लिए तो स्थायी केंद्र तय कर देना चाहिए। इस स्थिति में हमें भी मालूम रहेगा कि हमें कैसी पिच पर खेलना होगा और कैसे दर्शक मैच देखने आएंगे।

भारत ने मंगलवार को दक्षिण अफ्रीका को तीसरे टेस्ट मैच में पारी और 202 रनों से हरा दिया। पहली पारी में 335 रनों से पिछड़ने के बाद फॉलोऑन में खेलते हुए दक्षिण अफ्रीका की दूसरी पारी 133 रनों पर सिमट गई। भारत ने यह सीरीज 3-0 से अपने नाम कर इतिहास रच दिया।

Posted By: Kiran Waikar

fantasy cricket
fantasy cricket