मल्टीमीडिया डेस्क। India vs South Africa 3rd Test: भारत के रोहित शर्मा ने रविवार को रांची में दक्षिण अफ्रीका के खिलाफ तीसरे और अंतिम टेस्ट मैच में इतिहास रच दिया। वे भारत और दक्षिण अफ्रीका के बीच टेस्ट सीरीज में सबसे ज्यादा रन बनाने वाले बल्लेबाज बन गए। वे द. अफ्रीका के खिलाफ टेस्ट सीरीज में 500 से ज्यादा रन बनाने वाले पहले भारतीय बल्लेबाज भी बन गए।

रोहित ने इस सीरीज में दक्षिण अफ्रीका के खिलाफ शुरुआती दो टेस्ट मैचों में 317 रन (303 और 14) रन बनाए थे। वेे रांची टेस्ट की पहली पारी में रविवार को 212 रन बनाकर आउट हुए। इस तरह उनके नाम इस सीरीज में कुल 529 रन हो चुके हैं। इससे पहले भारत और दक्षिण अफ्रीका के बीच टेस्ट सीरीज में सबसे ज्यादा रनों का रिकॉर्ड दक्षिण अफ्रीका के जैक्स कैलिस के नाम था जिन्होंने भारत के खिलाफ 498 रन बनाए थे। हाशिम अमला इस मामले में 490 रनों के साथ दूसरे स्थान पर थे। रोहित ने जैसे ही रांची टेस्ट मैच में भारत की पहली पारी में अपने स्कोर को 183 रनों तक पहुंचाया वे इन देशों के बीच टेस्ट सीरीज में 500 रन बनाने वाले पहले बल्लेबाज बन गए। इससे पहले दक्षिण अफ्रीका के खिलाफ एक टेस्ट सीरीज में भारत की तरफ से सबसे ज्यादा रन बनाने का भारतीय रिकॉर्ड मोहम्मद अजहरूद्दीन के नाम था जिन्होंने 388 रन बनाए थे।

भारत वि. दक्षिण अफ्रीका टेस्ट सीरीज में सबसे ज्यादा रन

529* रोहित शर्मा

498 जैक्स कैलिस

490 हाशिम अमला

388 मोहम्मद अजहरूद्दीन

भारतीय ओपनर्स के विशेष ग्रुप में शामिल हिटमैन :

रोहित ने जैसे ही इस सीरीज में अपने स्कोर को 500 तक पहुंचाया वे भारतीय ओपनर्स के विशेष समूह में शामिल हो गए। रोहित किसी टेस्ट सीरीज में 500 से ज्यादा रन बनाने वाले पांचवें भारतीय ओपनर बने। इस समूह में वीनू मांकड, बुधी कुंदरन, सुनील गावस्कर और वीरेंद्र सहवाग पहले से शामिल थे। गावस्कर ने यह कारनामा पांच बार अंजाम दिया था। रोहित 2004-05 के बाद इस ग्रुप में शामिल होने वाले पहले ओपनर बने। वीरू ने इस करिश्मे को पाकिस्तान के खिलाफ अंजाम दिया था।

यह कमाल करने वाले पहले भारतीय ओपनर :

रोहित ने रांची टेस्ट मैच में जैसे ही अपने स्कोर को 150 तक पहुंचाया, उन्होंने खास मुकाम हासिल कर लिया। वे दक्षिण अफ्रीका के खिलाफ किसी टेस्ट सीरीज में दो बार 150 प्लस स्कोर बनाने वाले पहले ओपनर बन गए। वे यह कमाल करने वाले पहले भारतीय और दुनिया के आठवें बल्लेबाज बने। पिछली बार यह कमाल ऑस्ट्रेलिया के माइकल क्लार्क ने 2012-13 में किया था।

Posted By: Kiran Waikar