IND vs SA: क्रिकेट में एक नो बॉल (#NoBall) कितनी भारी पड़ सकती है, यह आज एक बार फिर दुनिया ने देख लिया। उस समय करोड़ों भारतीयों का दिल टूट गया जब महिला विश्वकप क्रिकेट में आखिरी ओवर में फेंकी गई एक नो बॉल के कारण भारतीय टीम को विकेट नहीं मिला और दक्षिण अफ्रीका जीत गई। इसके साथ ही विश्व कप से भारतीय टीम का सफर समाप्त हो गया। आखिरी ओवर दीप्ति शर्मा ने फेंसा। उनकी एक गेंद पर दक्षिण अफ्रीकी बल्लेबाज का कैच पकड़ लिया गया, लेकिन वह नो बॉल थी। बाद में दक्षिण अफ्रीका ने आखिरी गेंद पर एक रन बनाकर मैच जीत लिया। भारत की इस हार के साथ ही वेस्टइंडीज, ऑस्ट्रेलिया, इंग्लैंड और ऑस्ट्रेलिया के सेमीफाइनल मुकाबल तय हो गए।

IND vs SA: आखिरी ओवर चला मैच

भारतीय टीम ने टॉस जीतकर पहले बल्लेबाजी का फैसला किया। टीम इंडिया ने कप्तान मिताली राज की 68 रन की पारी की बदौलत निर्धारित 50 ओवर में 7 विकेट के नुकसान पर 274 रन बनाए। हरमनप्रीत कौर ने भी 57 गेंदों में 48 रनों की महत्वपूर्ण पारी खेली। जवाब में दक्षिण अफ्रीका की शुरुआत अच्छी नहीं रही। पहला विकेट 14 रन से स्कोर पर ही गिर गया था। इसके बाद दोनों टीमों के बीच कड़ा मुकाबला चला। टीम इंडिया अपनी फाइट को आखिरी ओवर तक ले गई। आखिरी ओवर में 7 रनों की दरकार थी।

मुकालबा और रोमांचक हुआ और 2 गेंदों पर 3 रनों की आवश्यकता थी। तभी दीप्ति शर्मा ने खतरनाक दिखने वाली मिग्नॉन डू प्रीज़ को आउट कर दिया था। बल्लेबाज ने लॉन्ग-ऑफ की ओर ऊंचा शॉट खेले, जहां हरमनप्रीत कौर ने एक आरामदायक कैच लपका, लेकिन अम्पायर ने इसे नॉल करार दे दिया। मामला थर्ड अम्पायर तक गया और आखिरी में दीप्ति की गेंद नो बॉल करार दी गई। आखिरी गेंद पर एक रन की जरूरत थी, जिसे दक्षिण अफ्रीका ने आसानी से बना लिया।

Posted By: Arvind Dubey

  • Font Size
  • Close