दुबई। वेस्टइंडीज के ऑलराउंडर किरोन पोलार्ड पर भारत के खिलाफ दूसरे टी20 मैच में अंपायर के निर्देशों का पालन नहीं करने के लिए 20 प्रतिशत मैच फीस का जुर्माना किया गया। इसके अलावा उनके अनुशासनात्मक रिकॉर्ड में एक डीमैरिट प्वाइंट भी जोड़ा गया।

आईसीसी के अनुसार पोलार्ड को लॉडरहिल में रविवार को हुए दूसरे टी20 मैच के दौरान आचार संहिता की धारा 2.4 के उल्लंघन को दोषी पाया गया। पोलार्ड ने अंपायर के निर्देशों की अनदेखी कर स्थानापन्न खिलाड़ी को मैदान में बुलवा लिया जबकि अंपायर्स ने उन्हें ओवर की समाप्ति तक इंतजार करने को कहा था। अंपायरों ने उन्हें यह भी कहा था कि बदलाव करने के पहले उन्हें अंपायर्स ने अनुमति लेनी होगी।

वेस्टइंडीज को इस वर्षा बाधित मैच में डकवर्थ-लुईस पद्धति से 22 रनों से हार का सामना करना पड़ा था। मैच के बाद पोलार्ड ने गलती स्वीकारने से इंकार किया जिसके बाद मैच रैफरी जैफ क्रो के सामना आधिकारिक सुनवाई हुई। पोलार्ड को दोषी पाया गया और उन पर 20 प्रतिशत मैच फीस का जुर्माना लगाया गया। इसके अलावा उनके अनुशासनात्मक रिकॉर्ड में एक डीमैरिट प्वाइंट भी जोड़ा गया।

मैदानी अंपायर्स नाइजेल डुगुइड और ग्रेगोरी ब्रैथवेट, थर्ड अंपायर लेस्ली रीफर और रिजर्व अंपायर पेट्रिक गुस्टर्ड ने पोलार्ड पर यह आरोप लगाए। जब 24 महीने की समयावधि में किसी खिलाड़ी के चार या ज्यादा डीमैरिट प्वाइंट हो जाएंगे तो ये निलंबन अंक में बदल जाएंगे और उस खिलाड़ी पर बैन लगेगा। दो निलंबन प्वाइंट पर एक टेस्ट, दो वनडे या दो टी20 के लिए बैन लगेगा।

Posted By: Kiran Waikar

नईदुनिया ई-पेपर पढ़ने के लिए यहाँ क्लिक करे

नईदुनिया ई-पेपर पढ़ने के लिए यहाँ क्लिक करे

डाउनलोड करें नईदुनिया ऐप | पाएं मध्यप्रदेश, छत्तीसगढ़ और देश-दुनिया की सभी खबरों के साथ नईदुनिया ई-पेपर,राशिफल और कई फायदेमंद सर्विसेस

डाउनलोड करें नईदुनिया ऐप | पाएं मध्यप्रदेश, छत्तीसगढ़ और देश-दुनिया की सभी खबरों के साथ नईदुनिया ई-पेपर,राशिफल और कई फायदेमंद सर्विसेस