कुलिज। भारत के तेज गेंदबाज उमेश यादव ने कहा कि भारतीय टीम से दूर रहने की वजह से उन्हें अपनी कमजोरियों को दूर करने में मदद मिली। इसकी वजह से उनका आत्मविश्वास वापस लौटा।

उमेश को वेस्टइंडीज के खिलाफ 22 अगस्त से होने वाले टेस्ट सीरीज के लिए भारत की प्लेइंग इलेवन में जगह बनाने का विश्वास है। उमेश ने वेस्टइंडीज क्रिकेट बोर्ड इलेवन (WICB XI) के खिलाफ तीन दिवसीय अभ्यास मैच में पहली पारी में 19 रनों पर 3 विकेट लिए। उमेश ने कहा, 'मैंने नागपुर में विदर्भ क्रिकेट एकेडमी में सुब्रतो बैनर्जी के साथ मिलकर अपनी लय वापस हासिल करने पर ध्यान दिया। तेज गेंदबाज के रूप में आपको लय हासिल करनी होती है। आपके लिए यह जानना जरूरी है कि किस लेंथ-लाइन पर गेंदबाजी करनी है। मैंने भी ऐसा ही किया और वापस लय हासिल की। मैंने खुद को मैच स्थिति के लिए तैयार किया।'

उन्होंने कहा, कोच बैनर्जी ने मुझे लाइन-लेंथ पर ध्यान देने को कहा। जब आप लगातार मैच खेलते रहते तो ऐसे मामलों पर ध्यान नहीं दे पाते हो। मैंने अभ्यास मैच में सही लाइन-लेंथ पर गेंदबाजी की। मैं लंबे समय बाद प्रैक्टिस मैच खेल रहा था। मैं यहां भारत ए की तरफ से मैच खेल चुका था। विकेट में ज्यादा बदलाव नहीं था और गेंद भी स्विंग हो रही थी।

31 वर्षीय उमेश ने पिछली बार दिसंबर 2018 में ऑस्ट्रेलिया के खिलाफ टेस्ट मैच खेला था। वे इसके बाद घरेलू क्रिकेट में विदर्भ की तरफ से खेले थे। इसके बाद आईपीएल 2019 में उन्होंने आरसीबी का प्रतिनिधित्व किया था। उन्होंने कहा, प्रैक्टिस मैच में मैंने उसी लाइन-लेंथ पर गेंदबाजी की जो मुझे टेस्ट मैच में करनी होगी।