इंदौर। India vs Bangladesh 1st Test Match: भारत और बांग्लादेश के बीच 2 मैचों की सीरीज का पहला टेस्ट इंदौर के होलकर स्टेडियम में खेला जा रहा है। लेकिन इस मैच के पहले सत्र में भारत की फील्डिंग बेहद खराब रही है। भारत ने बांग्लादेश के बल्लेबाजों को आउट करने के कई मौके गंंवाए। कप्तान विराट कोहली, उपकप्तान अजिंंक्य रहाणे से कैच ड्रॉप हुए। इनमें से रहाणे से तो 3 कैच छूटे।

बता दें कि बांग्लादेश के खिलाफ टी20 सीरीज में भी खिलाड़ियों की फील्डिंग बेहद निम्न स्तरीय रही थी। अब यही परेशानी टेस्ट सीरीज में भी नजर आ रही है। भारतीय खिलाड़ियों से शुरुआती दो सत्रों में 4 कैच छूटे। इनमें 3 तो अकेले रहाणे से छूटे और ये तीनों कैच अश्विन की गेंद पर रहे।

बांग्लादेश ने पहले दिन लंच तक 3 विकेट पर 63 रन बनाए थे। बांग्लादेश की हालत और खराब होती यदि भारतीय खिलाड़ियों से कैच नहीं छूटते।

पहले सत्र में विराट रहाणे से छूटे कैच

इंदौर टेस्ट में पहले दिन पहले सत्र में पहला कैच टीम के उपकप्तान अजिंक्य रहाणे से छूटा। मैच के 17वें ओवर में वे बांग्लादेश के कप्तान मोमिनुल हक का कैच नहीं ले पाए। अश्विन की गेंद को खेलने की कोशिश में गेंद ने मोमिनुल के बल्ले का बाहरी किनारा लिया और तेज कट विकेटकीपर और फर्स्ट स्लिप के बीच से निकली। इस दौरान रहाणे फर्स्ट स्लिप में खड़े थे। उन्होंने तेजी से अपने बाईं ओर मूवमेंट करते हुए गेंद को पकड़ने की कोशिश की, लेकिन गेंद उनके हाथों से लगते हुए निकल गई। रहाणे कैच नहीं ले पाए।

रहाणे के बाद बारी थी कप्तान विराट कोहली की। 24वें ओवर में विराट ने उमेश यादव की गेंद पर मुश्फिकुर रहीम का आसान कैच टपकाया। विराट थर्ड स्लिप पर खड़े थे और गेंद कट होकर सीधे उनके पास आई, लेकिन वे इसे लपक नहीं पाए। उस समय रहीम केवल 3 रन पर खेल रहे थे। यदि ये दोनों कैच होते तो लंच तक बांग्लादेश की हालत और खराब हो जाती।

दूसरे सत्र में भी फिसड्डी रही फील्डिंग

भारतीय खिलाड़ियों की खराब फील्डिंग लंच के बाद भी जारी रही। इस सत्र में दो कैच छूटे और दोनों ही कैच अश्विन की गेंद पर रहाणे से छूटे। अश्विन द्वारा फेंके जा रहे पारी के 28वें ओवर की पहली गेंद पर मुश्फिकुर रहीम का आसान कैच रहाणे से छूटा। अश्विन की उछाल खाती गेंद रहीम के बल्ले का बाहरी किनारा लेती हुई रहाणे की ओर गई और उनके सीरे से जा टकराई। रहाणे उस समय कैच लेने की पोजिशन में नहीं थे। यहां रहीम का निजी स्कोर 14 रन था।

इसके बाद रहाणे की लचर फील्डिंग आगे भी जारी रही। पारी के 44वें ओवर में अश्विन की गेंद पर रहाणे से महमुदुल्लाह का कैच ड्रॉप हुआ। ये रहाणे से छूटने वाला तीसरा कैच रहा।

बहरहाल टीम इंडिया के लिए खराब फील्डिंग लगातार चिंता का कारण बन रही है। टीम बल्लेबाजी और गेंदबाजी में तो अच्छा प्रदर्शन कर रही है, लेकिन फील्डिंग में उसका स्तर लगातार गिरता जा रहा है। भारत को खराब फील्डिंग का खामियाजा पहले टी20 मैच में भी भुगतना पड़ा था, जब उसे हार मिली थी।

Posted By: Rahul Vavikar