ढाका। India vs Bangladesh: बांग्लादेश के आगामी भारत दौरे पर छाए संकट के बादल बुधवार देर रात उस समय छट गए जब बांग्लादेशी क्रिकेटरों ने अपनी हड़ताल खत्म कर दी। बांग्लादेश क्रिकेट बोर्ड (BCB) के अधिकारियों के साथ मुलाकात के बाद बांग्लादेशी क्रिकेटर्स ने यह फैसला किया। खिलाड़ी शुक्रवार को भारत दौरे के लिए शिविर में शामिल होंगे।

बांग्लादेशी क्रिकेटर्स ने सोमवार को हड़ताल करते हुए बीसीबी के सामने 11 मांगे रखी थी। टेस्ट और टी20 कप्तान शाकिब अल हसन इन क्रिकेटर्स की अगुवाई कर रहे थे और उनका कहना था कि जब तक उनकी मांग स्वीकारी नहीं जाती वे मैदान में वापसी नहीं करेंगे। इसके चलते बांग्लादेश और भारत के बीच 3 नवंबर से होने वाली सीरीज पर संदेह के बादल छा गए थे।

बांग्लादेशी क्रिकेटर्स और बीसीबी अधिकारियों के बीच बुधवार देर रात बैठक हुई और जानकारी के अनुसार 11 में से 9 मांग मान ली गई। इस बैठक के बाद बीसीबी अध्यक्ष नजमुल हसन और बांग्लादेशी कप्तान शाकिब अल हसन ने संयुक्त प्रेस कांफ्रेंस में हड़ताल समाप्ति की घोषणा की। नजमुल हसन ने कहा, 'हमने खिलाड़ियों की अधिकांश मांगों को मान लिया है। हमने पहले नेशनल क्रिकेट लीग (NCL) का तीसरा राउंड रद्द करने का फैसला किया था लेकिन खिलाड़ियों के खेलने के लिए राजी होने की वजह से अब इसे शनिवार से कराया जाएगा। भारत दौरे के लिए बांग्लादेशी टीम का शिविर शुक्रवार से शुरू होगा।'

उन्होंने कहा, बीसीबी क्रिकेटर्स ने हमें 11 मांगे भेजी थी और CWAB से जुड़ी मांग का हमसे कोई लेना-देना नहीं है, इसलिए उसे छोड़कर अन्य मांगों को हमने स्वीकार कर लिया है। इसके अलावा एक मांग पर अभी फैसला होना है जो यह है कि उन्हें फ्रेंचाइजी आधारित दो से ज्यादा लीग में खेलने की अनुमति दी जाएगी। हमें नहीं लगता है कि ऐसे ज्यादा खिलाड़ी है जिन्हें दो से ज्यादा फ्रैंचाइजी आधारित टूर्नामेंट्स में खेलने का प्रस्ताव मिलता है।

खिलाड़ियों की मांगों में प्रमुख रूप से फर्स्ट क्लास क्रिकेटरों के वेतन में 50 प्रतिशत इजाफा, घरेलू चार दिवसीय टूर्नामेंट के लिए खिलाड़ियों की मैच फीस में वृद्धि और ग्राउंड स्टाफ के लिए ज्यादा सुविधाएं शामिल थी। शाकिब ने कहा, मैं खुश हूं क्योंकि बीसीबी ने एक के बाद एक सभी मांगों का निराकरण करने का आश्वासन दिया है। मुझे लगता है कि वे जल्दी ही सभी मामलों को सुलझा लेंगे। हमने दो मांगे आज ही उनके सामने रखी है और उन्हें इस पर विचार करने के लिए समय लगेगा। इस मामले में बुधवार को उस समय नाटकीय मोड आया था जब बांग्लादेशी क्रिकेटर्स की तरफ से मुस्ताफिजुर रहमान ने बताया कि खिलाड़ियों ने बीसीबी के सामने 13 मांगे रखी है लेकिन इसमे नोटिस जैसी कोई बात नहीं है। उन्होंने कहा, हम पुरुष और महिला क्रिकेटर्स के लिए समानता चाहते हैं।

Posted By: Kiran Waikar

नईदुनिया ई-पेपर पढ़ने के लिए यहाँ क्लिक करे

नईदुनिया ई-पेपर पढ़ने के लिए यहाँ क्लिक करे

डाउनलोड करें नईदुनिया ऐप | पाएं मध्यप्रदेश, छत्तीसगढ़ और देश-दुनिया की सभी खबरों के साथ नईदुनिया ई-पेपर,राशिफल और कई फायदेमंद सर्विसेस

डाउनलोड करें नईदुनिया ऐप | पाएं मध्यप्रदेश, छत्तीसगढ़ और देश-दुनिया की सभी खबरों के साथ नईदुनिया ई-पेपर,राशिफल और कई फायदेमंद सर्विसेस

जीतेगा भारत हारेगा कोरोना
जीतेगा भारत हारेगा कोरोना