इंदौर। India vs Bangladesh Day Night Test: भारत ने इंदौर के होलकर स्टेडियम में खेले गए सीरीज के पहले टेस्ट में बांग्लादेश को पारी और 130 रनों से हराया। टीम इंडिया ने ये पहला टेस्ट तीसरे ही दिन जीत लिया। उम्मीद की जा रही थी कि टीम इंडिया शनिवार या रविवार सुबह कोलकाता के लिए रवाना हो जाएगी। लेकिन टीम इंडिया ने चौंकाने वाला फैसला लेते हुए 2 दिन और इंदौर में ही रुकने का फैसला किया है। बता दें कि दोनों टीमों के बीच दूसरा टेस्ट कोलकाता में 22 से 26 नवंबर तक खेला जाएगा। भारतीय टीम की तरह बांग्लादेश की टीम भी अगले दोनों दिन इंदौर में ही रुकेगी।

कोलकाता में 22 से 26 नवंबर तक सीरीज का दूसरा टेस्ट डे-नाइट मैच है। ये टेस्ट पिंक बॉल से खेला जाएगा। ऐसे में इसकी तैयारी के लिए भारतीय टीम ने फैसला किया है कि वो अगले 2 दिन इंदौर में ही रुककर होलकर स्टेडियम में शाम के समय फ्लड लाइट में अभ्यास करेगी। बांग्लादेश की टीम ने भी इंदौर में ही रुकने का फैसला किया है। बता दें कि पहले टेस्ट का फैसला तीसरे ही दिन हो गया और अभी मैच में पूरे 2 बचे हैं।

भारतीय टीम ने पहले ही संकेत दे दिए थे कि यदि मैच समय से पहले खत्म होता है तो टीम यहीं रुक सकती है। ऐसे में अब टीम दो दिन इंदौर में ही रुकेगी। हालांकि भारतीय खिलाड़ियों ने पहले टेस्ट मैच के दौरान ही पिंक बॉल टेस्ट की तैयारियां शुरू कर दी थी। रोजाना खिलाड़ी बारी-बारी से पिंक बॉल से अभ्यास कर रहे थे। इतना ही नियमित मैच के दौरान लंच और टी ब्रेक के दौरान भी खिलाड़ी पिंक बॉल से ही खेलते नजर आए।

अब टीमों ने तय किया है कि चूंकि कोलकाता टेस्ट डे-नाइट मैच है, ऐसे में खिलाड़ी यहीं इंदौर में अभ्यास करेंगे। बता दें कि इंदौर में डे-नाइट मैच के लिए फ्लड लाइट की सुविधा है। फिलहाल मिली जानकारी के मुताबिक दोनों ही टीमों के खिलाड़ी शाम के समय होलकर स्टेडियम में अभ्यास करेंगे। दरअसल भारतीय टीम ने अभी तक वनडे और टी20 मैच ही डे-नाइट खेले हैं। ये मैच व्हाइट बॉल से होता है तो ज्यादा परेशानी नहीं होती। लेकिन डे-नाइट टेस्ट मैच के दौरान पिंक बॉल का उपयोग होता है और ऐसे में खिलाड़ियों को शाम के समय जब रोशनी कम होती है तब परेशानी होती है, ऐसे में खिलाड़ियों ने उसी समय अभ्यास करने का फैसला किया है।

टीम में शामिल चेतेश्वर पुजारा साल 2016-17 में दुलीप ट्रॉफी में पिंक बॉल से खेल चुके हैं। उन्होंने बताया कि शाम के समय पिंक बॉल को देखने में परेशानी होती है क्योंकि सूर्यास्त के समय आकाश के लाल रंग के कारण गेंद नारंगी रंग की तरह दिखने लगती है। ऐसे में खिलाड़ियों को उस समय ही अभ्यास करना फायदेमंद होता है।बहरहाल अब दोनों टीमें 19 नवंबर को कोलकाता के लिए रवाना होंगी।

Posted By: Rahul Vavikar

नईदुनिया ई-पेपर पढ़ने के लिए यहाँ क्लिक करे

नईदुनिया ई-पेपर पढ़ने के लिए यहाँ क्लिक करे

डाउनलोड करें नईदुनिया ऐप | पाएं मध्यप्रदेश, छत्तीसगढ़ और देश-दुनिया की सभी खबरों के साथ नईदुनिया ई-पेपर,राशिफल और कई फायदेमंद सर्विसेस

डाउनलोड करें नईदुनिया ऐप | पाएं मध्यप्रदेश, छत्तीसगढ़ और देश-दुनिया की सभी खबरों के साथ नईदुनिया ई-पेपर,राशिफल और कई फायदेमंद सर्विसेस

Independence Day
Independence Day