कोलकाता। India vs Bangladesh Pink ball test: कोलकाता के विशाल ईडन गार्डंस स्टेडियम शुक्रवार को एक और सुनहरे इतिहास का गवाह बनेगा जब भारत और बांग्लादेश के बीच पहला डे-नाइट टेस्ट मैच खेला जाएगा। ये दोनों ही टीमों का पहला डे-नाइट टेस्ट होगा, जबकि भारत में खेला जाने वाला पहला डे-नाइट मैच भी होगा। BCCI अध्यक्ष सौरव गांंगुली ने इस ऐतिहासिक लम्हें को यादगार बनाने के लिए सारे संभव प्रयास किए हैं। सिटी ऑफ जॉय कहलाने वाला कोलकाता शहर इस पिंक बॉल टेस्ट के लिए पिंक सिटी में तब्दील हो गया है।

भारत और बांग्लादेश के बीच होने वाला ये टेस्ट क्रिकेट इतिहास का 12वां डे-नाइट टेस्ट होगा। क्रिकेट के पारंपरिक स्वरुप टेस्ट क्रिकेट की लोकप्रियता बनाए रखने के लिए सौरव गांगुली ने भारत और बांग्लादेश की टीमों को इस डे-नाइट टेस्ट के लिए तैयार किया। हालांकि इस टेस्ट में भारत का पलड़ा भारी है। टीम इंडिया 2 मैचों की सीरीज में 1-0 की बढ़त लिए हुए है। भारत ने इंदौर में खेला गया पहला टेस्ट पारी व 130 रनों से जीता था। लेकिन पिंक बॉल खेल का मिजाज अलग होता है। भारतीय खिलाड़ी भी इसे काफी चुनौतीपूर्ण मान रहे हैं।

भारतीय खिलाड़ियों ने किया जमकर अभ्यास

भारतीय बल्लेबाजी वैसे तो काफी मजबूत है, लेकिन सभी खिलाड़ियों ने पिंक बॉल से कड़ा अभ्यास किया। पिंक बॉल को सूर्यास्त के समय खेलने में दिक्कत आती है, ऐसे में बल्लेबाजों को सतर्क होकर खेलना होगा। अभ्यास सत्र में विराट कोहली, रोहित शर्मा, चेतेश्वर पुजारा, मयंक अग्रवाल ने जमकर अभ्यास किया। सभी बल्लेबाज पिंक बॉल के व्यवहार को समझते नजर आए।

इसी तरह गेंदबाजी में स्थिति रही। मोहम्मद शमी, ईशांत शर्मा, उमेश यादव जहां इस बॉल की विशेषता समझते हुए इसके अभ्यास जुटे। पिंक बॉल और डे-नाइट मैच होने के कारण शमी, ईशांत और उमेश की तिकड़ी का खेलना तय है। वहीं स्पिनर अश्विन, जडेजा, कुलदीप यादव भी पिंक बॉल से फिरकी के तरीके अभ्यास के दौरान आजमाते दिखे।यहां संभावना है कि अश्विन के स्थान पर कुलदीप को मौका मिल सकता है क्योंकि कुलदीप रिस्टी स्पिनर हैं और पिंक बॉल को कलाई से सहारे घुमा सकते हैं।

बांग्लादेश दबाव में

इधर पहले मैच में मिली करारी हार के बाद बांग्लादेश की टीम दबाव में है। टीम में अनुभवी खिलाड़ियों की कमी देखी जा रही है। जो अनुभवी खिलाड़ी हैं, वो अच्छा नहीं खेल पा रहे हैं। ऐसे में टीम बल्लेबाजी, गेंदबाजी से लेकर रणनीति सभी में कमजोर दिखाई दे रही है। जिस तरह से भारतीय टीम प्रदर्शन कर रही है, उसे रोक पाना बांग्लादेशी खिलाड़ियों के लिए बड़ी चुनौती होगी। मुश्फिकुर रहीम, कप्तान मोमिनुल हक और लिटन दास से एक बार फिर रनों की दरकार रहेगी। टीम में एक-दो परिवर्तन देखने को मिल सकते हैं। टीम में तैजुल इस्लाम और इबादत हुसैन की जगह मुस्तफिजुर रहमान और अल अमीन हुसैन को मौका मिल सकता है।

ये विशिष्ट अतिथि रहेंगे मौजूद

इस ऐतिहासिक टेस्ट के लिए कई विशिष्ट अतिथि मौजूद रहेंगे। इसके अलावा इस टेस्ट का शुभारंभ भी ऐतिहासिक ही होगा। पिंक बॉल, शुभंकर और समारोह में सेना के पैराट्रूपर यहां आकर्षण का केंद्र रहेंगे। इसके अलावा भारत के पूर्व टेस्ट कप्तान और खिलाड़ी मौजूद रहेंगे। बांग्लादेश की प्रधानमंत्री शेख हसीना और पश्चिम बंगाल की मुख्यमंत्री ममता बनर्जी घंटा बजाकर मैच शुरू करेंगी।

संभावित टीमें: भारत- विराट कोहली (कप्तान), रोहित शर्मा, मयंक अग्रवाल, चेतेश्वर पुजारा, अजिंक्य रहाणे, रिद्धिमान साहा, रविचंद्रन अश्विन, रवींद्र जडेजा, रिषभ पंत, मोहम्मद शमी, ईशांत शर्मा, उमेश यादव, हनुमा विहारी, कुलदीप यादव व शुभमन गिल।

बांग्लादेश- मोमिनुल हक (कप्तान), लिटन दास, मेंहदी हसन, नईम हसन, अल अमीन हुसैन, इबादत हुसैन, मोसाद्दक हुसैन, शादमान इस्लाम, तैजुल इस्लाम, अबु जाएद, इमरूल काएस, महमूदुल्लाह, मोहम्मद मिथुन, मुश्फिकुर रहीम, मुस्तफिजुर रहमान।

Posted By: Rahul Vavikar