मल्टीमीडिया डेस्क। भारत को बुधवार को मैनचेस्टर में क्रिकेट वर्ल्ड कप सेमीफाइनल में न्यूजीलैंड के हाथों 18 रनों से हार का सामना करना पड़ा। महेंद्रसिंह धोनी का 49वें ओवर में रन आउट होना इस मैच का टर्निंग पाइंट रहा। सोशल मीडिया पर अब एक वीडियो और फोटो वायरल हो रहा है जिसके अनुसार धोनी जिस गेंद पर आउट हुए वह नोबॉल थी, लेकिन अंपायर्स का इस पर ध्यान नहीं गया। अब अंपायर्स की इस गलती को लेकर सोशल मीडिया पर बहस छिड़ गई है।

उस समय भारत को 10 गेंद पर जीत के लिए 25 रन चाहिए थे और धोनी 49 रनों पर खेल रहे थे। 49वें ओवर में फर्ग्यूसन द्वारा डाली गई तीसरी गेंद को धोनी ने शॉर्ट फाइन लेग पर खेला था वे एक रन बनाने के बाद वे दूसरा रन ले रहे थे जब फाइन लेग बाउंड्री से दौड़कर आए गप्टिल के डायरेक्ट थ्रो पर वे रन आउट हुए। आईसीसी के नियमों के अनुसार अंतिम पावरप्ले में पांच खिलाड़ी 30 गज के सर्कल के बाहर रह सकते हैं लेकिन धोनी जिस गेंद पर रन आउट हुए उस गेंद पर न्यूजीलैंड के 6 खिलाड़ी सर्कल के बाहर थे। अंपायर्स का इस पर ध्यान नहीं गया और उन्होंने इसे नोबॉल नहीं दी।

वैसे आपको बता दे कि नोबॉल पर रन आउट होता है, उस लिहाज से भी धोनी रन आउट थे। सोशल मीडिया पर कुछ फैंस यह बता रहे है कि धोनी जिस गेंद पर आउट हुए यह उस बॉल की पहली वाली बॉल का फोटो और वीडियो है। इन दोनों ही स्थिति में यदि अंपायर्स नोबॉल देते तो धोनी को मालूम रहता कि उन्हें नोबॉल का एक रन मिल चुका है तो हो सकता है कि वे दूसरे रन का अतिरिक्त जोखिम नहीं उठाते। इतने बड़े मैच में अंपायर्स की इस तरह की गलती को लेकर फैंस ने सोशल मीडिया पर तीव्र प्रतिक्रिया व्यक्त की।

एक यूजर ने लिखा यदि धोनी को मालूम होता कि यह नोबॉल है तो हो सकता है कि वे दूसरा रन नहीं लेते। एक फैन ने लिखा अंपायर्स का शर्मनाक प्रदर्शन, वर्ल्ड कप सेमीफाइनल में ऐसा प्रदर्शन बर्दाश्त नहीं किया जा सकता। एक यूजर ने लिखा कि वर्ल्ड कप सेमीफाइनल में अंपायर इस तरह की गलती कैसे कर सकते हैं। एक यूजर ने लिखा कि यह गप्टिल सर्कल के अंदर होते तो धोनी दूसरे रन के लिए दौड़ते ही नहीं।