मैनचेस्टर। भारत को बुधवार को क्रिकेट वर्ल्ड कप के सेमीफाइनल में न्यूजीलैंड के हाथों 18 रनों से हार झेलनी पड़ी थी। इस हार के साथ ही भारत वर्ल्ड कप से बाहर हुआ था। भारत के शीर्षक्रम के जल्दी आउट होने के बाद रवींद्र जडेजा और महेंद्रसिंह धोनी ने शतकीय भागीदारी कर उम्मीद जगाई थी लेकिन टीम इंडिया को मामूली अंतर से हार झेलनी पड़ी।

न्यूजीलैंड ने 8 विकेट पर 239 रन बनाए थे। रॉस टेलर ने 74 और कप्तान केन विलियम्सन ने 67 रन बनाए। इसके जवाब में भारत ने 24 रनों पर 4 विकेट गंवा दिए थे। 92 रनों पर 6 विकेट की नाजुक स्थिति के बाद जडेजा ने धोनी के साथ मिलकर सातवें विकेट के लिए 116 रन जोड़कर भारत को मैच में लौटाने की कोशिश की। जडेजा ने संकट की स्थिति में 59 गेंदों में 77 रनों की पारी खेली। उन्होंने 4 चौके और 4 छक्के लगाए। उनके आउट होने के बाद भारत मैच हार गया था।

भारत के वर्ल्ड कप से बाहर होने के बाद जडेजा ने प्रेरणादायक ट्वीट किया। उन्होंने लिखा- 'खेल ने मुझे गिरकर उठना और कभी हार नहीं मानना सिखाया है। मैं अपने हर उस फैन का पूरी तरह शुक्रिया भी अदा नहीं कर सकता जो आगे बढ़ने के लिए मेरी प्रेरणा हैं। आपके सपोर्ट के लिए धन्यवाद। मुझे इसी तरह प्रेरित करते रहे और मैं अपनी अंतिम सांस तक सर्वश्रेष्ठ प्रदर्शन करने की कोशिख करूंगा।'