हैमिल्टन। India vs New Zealand XI: न्यूजीलैंड इलेवन के गेंदबाजों ने शुक्रवार को भारतीय क्रिकेट टीम के अनुभवहीन ओपनर्स की तकनीकी खामियों को उजागर कर रख दिया। तीन दिवसीय अभ्यास मैच में शतक लगाने के बाद Hanuma Vihari ने कहा कि यदि टीम प्रबंधन चाहेगा तो वे पारी की शुरुआत करने की जिम्मेदारी उठाने को तैयार हैं।

इस तीन दिनी मैच में छठे क्रम पर बल्लेबाजी के उतरकर Hanuma Vihari ने शतक लगाया। वे 101 रन बनाकर रिटायर्ड हुए थे। कीवी गेंदबाजों ने अतिरिक्त उछाल और सीम मूवमेंट की मदद से मयंक अग्रवाल, पृथ्वी शॉ और शुभमन गिल को सस्ते में आउट किया था। इन तीनों युवा बल्लेबाजों के इस तरह आउट होने से उनके टेस्ट सीरीज में अनुभवी गेंदबाजों के सामने टिक पाने को लेकर सवाल खड़े हो गए हैं।

Hanuma Vihari ने पहले दिन के खेल के बाद कहा, 'मैं एक बल्लेबाज के रूप में किसी भी क्रम पर खेलने को तैयार हूं। अभी तक मुझसे किसी ने कुछ कहा नहीं है लेकिन टीम प्रबंधन चाहेगा तो मैं पारी की शुरुआत करने को भी राजी हूं।' यह पूछे जाने पर कि दक्षिण अफ्रीका के खिलाफ विशाखापत्तनम टेस्ट के बाद लगातार चार टेस्ट मैचों में खेलने का मौका नहीं मिलने से दुखी हैं क्या, Hanuma Vihari ने कहा- खिलाड़ी को टीम कॉम्बिनेशन के बारे में समझना होता है और बेंच पर बैठने से निराश नहीं होना होता है। जब हम अपने देश में खेलते हैं तो पांच स्पेशलिस्ट गेंदबाजों के साथ मैदान में उतरना होता है और एक बल्लेबाज को बाहर बैठना पड़ता हैं। इस वजह से मुझे बाहर बैठना पड़ा। मैं सिर्फ अपनी प्रोसेस फॉलो करता हूं और मुझे किसी को कुछ साबित नहीं करना है।

हनुमा विहारी शुक्रवार को पिच पर मिल रही अतिरिक्त उछाल से हैरान हुए लेकिन वे खुश हैं कि उन्होंने इसका अच्छी तरह सामना किया। उन्होंने चेतेश्वर पुजारा (93) के साथ पांचवें विकेट के लिए 195 रन जोड़े। इनके अलावा कोई भी बल्लेबाज 20 का आंकड़ा पार नहीं कर पाया।

Posted By: Kiran Waikar

fantasy cricket
fantasy cricket