मल्टीमीडिया डेस्क। भारत और दक्षिण अफ्रीका के बीच दूसरा टेस्ट मैच गुरुवार से पुणे के महाराष्ट्र क्रिकेट एसोसिएशन स्टेडियम में खेला जाएगा। टीम इंडिया का यह इस स्टेडियम में दूसरा टेस्ट मैच होगा। इस मैदान पर टेस्ट क्रिकेट में भारत का रिकॉर्ड बेहद शर्मनाक रहा है। उसने यहां एकमात्र टेस्ट मैच ऑस्ट्रेलिया के खिलाफ 2017 में खेला और उसे तीन दिनों के अंदर 333 रनों से हार का सामना करना पड़ा था।

विराट कोहली की भारतीय टीम दक्षिण अफ्रीका के खिलाफ तीन टेस्ट मैचों की वर्तमान सीरीज में 1-0 की बढ़त बना चुकी है और उसका इरादा MCA स्टेडियम में अपने रिकॉर्ड को बेहतर करने का रहेगा। भारतीय टीम का स्पिन गेंदबाजी के मामले में दबदबा रहता है लेकिन ऑस्ट्रेलिया ने पुणे में 25 से 27 फरवरी 2017 तक हुए उस टेस्ट मैच में स्पिन गेंदबाजी के जरिए ही भारतीय टीम को करारी शिकस्त दी थी। ऑस्ट्रेलियाई बाएं हाथ के स्पिनर स्टीव ओ'कैफी का यह पांचवां टेस्ट मैच ही था, उनकी ख्याति खतरनाक गेंदबाज के रूप में नहीं थी लेकिन पुणे टेस्ट में तो वे भारतीय बल्लेबाजों के लिए काल साबित हुए थे। उन्होंने इस मैच में 70 रन देकर 12 विकेट हासिल किए थे।

क्या हुआ था मैच में...

ऑस्ट्रेलियाई कप्तान स्टीव स्मिथ ने टॉस जीतकर पहले बल्लेबाजी करने का फैसला किया लेकिन उनका यह फैसला उस समय गलत लग रहा था जब मेहमान टीम की पहली पारी 260 रनों पर समाप्त हो गई। उमेश यादव ने 4, रविचंद्रन अश्विन ने 3 और रवींद्र जडेजा ने 2 विकेट लिए। इसके बाद भारतीय बल्लेबाजों पर ओ'कैफी का कहर बरपा और मेजबान टीम की पहली पारी मात्र 105 रनों पर सिमट गई। केएल राहुल (64) को छोड़कर कोई भी बल्लेबाज क्रीज पर टिकता नहीं दिखा और कुल 3 बल्लेबाज ही दोहरी रनसंख्या तक पहुंच पाए। ओ'कैफी ने 35 रनों पर 6 विकेट लिए जबकि मिचेल स्टार्क को 2 विकेट मिले।

पहली पारी में 155 रनों की बढ़त लेने के बाद ऑस्ट्रेलिया ने दूसरी पारी में 285 रन बनाए। स्टीव स्मिथ ने कप्तानी पारी खेलते हुए शानदार शतक (109) लगाया और भारतीय स्पिनरों अश्विन और जडेजा का प्रतिकार किया। अश्विन को 4 और जडेजा को 3 विकेट मिले। भारत के सामने 441 रनों का बेहद कठिन लक्ष्य था और सामने थे ओ'कैफी। इस ऑस्ट्रेलियाई स्पिनर ने दूसरी पारी में भी यह साबित कर दिया कि भारतीय बल्लेबाज भी स्पिनरों के सामने संघर्ष करते हैं। भारत की दूसरी पारी तो मात्र 33.5 ओवरों में 107 रनों पर सिमटी और उसे 333 रनों से शर्मनाक हार का सामना करना पड़ा था। ओ'कैफी ने इस पारी में भी 35 रनों पर 6 विकेट लिए और उन्होंने इस तरह मैच में कुल 12 विकेट अपने नाम किए।

टीम इंडिया का पुणे में 2-0 की बढ़त का इरादा :

भारतीय टीम वर्तमान सीरीज में दक्षिण अफ्रीका के खिलाफ 1-0 की बढ़त बना चुकी है। उसका इरादा पुणे टेस्ट जीतकर सीरीज में अपराजेय बढ़त के साथ कब्जा जमाने का रहेगा। देखना होगा कि विराट कोहली की टीम किस तरह इस मैच में भी अपना प्रभाव छोड़ती है क्योंकि इस मैच के भी बारिश से प्रभावित होने की आशंका है।