मल्टीमीडिया डेस्क। सलामी बल्लेबाज मयंक अग्रवाल को दिसंबर 2018 में भारत की तरफ से ऑस्ट्रेलिया में टेस्ट डेब्यू करने का मौका मिला था और वे पहले मैच से ही लगातार शानदार प्रदर्शन कर रहे हैं। मयंक ने मिले मौकों को भुनाते हुए इतने कम समय में ही टीम इंडिया में अपनी जगह पक्की कर ली। इसमें भी उनकी यह खासियत देखने को मिली है कि वे पहली पारी के शानदार बल्लेबाज के रूप में उभर रहे हैं।

मयंक गुरुवार को पुणे में दक्षिण अफ्रीका के खिलाफ शुरू हुए दूसरे टेस्ट मैच के पहले दिन अर्द्धशतक लगा चुके हैं। उन्होंने केशव महाराज की गेंद पर चौका लगाकर फिफ्टी पूरी की। वे 112 गेंदों में 10 चौकों की मदद से अर्द्धशतक तक पहुंचे। यह उनका टेस्ट क्रिकेट में चौथा अर्द्धशतक है। उन्होंने शतक पूरा किया। वे 108 रन बनाकर रबाडा की गेंद पर प्लेसिस को कैच दे बैठे। मयंक अपना छठा टेस्ट मैच खेल रहे है और उन्होंने इस दौरान अपने सभी पांच फिफ्टी प्लस स्कोर भारत की पहली पारी में बनाए हैं। उन्हें अभी इंटरनेशनल क्रिकेट में एक साल भी नहीं हुआ है और वे पहली पारी की तरह दूसरी पारी में बड़ा स्कोर बनाना चाहेंगे।

मयंक ने 26 दिसंबर 2018 को मेलबर्न में ऑस्ट्रेलिया के खिलाफ बॉक्सिंग डे टेस्ट में टेस्ट डेब्यू किया था। उन्होंने इस टेस्ट की पहली पारी में अर्द्धशतक जड़ते हुए 76 रन बनाए थे। वे दूसरी पारी में 42 रन बना पाए थे। उन्होंने इसके बाद सिडनी में ऑस्ट्रेलिया के खिलाफ अंतिम टेस्ट में पहली पारी में 77 रनों को योगदान दिया था। मयंक इसके बाद 22 अगस्त से नॉर्थ साउंड में वेस्टइंडीज के खिलाफ पहले टेस्ट मैच में असफल रहे थे और इस मैच की पहली पारी में 5 रन ही बना पाए थे। उन्होंने किंग्सटन में वेस्टइंडीज के खिलाफ दूसरे टेस्ट में पहली पारी में 55 रन बनाए। दक्षिण अफ्रीका के खिलाफ विशाखापत्तनम में खेला गया पहला टेस्ट तो मयंक को जीवन भर याद रहेगा, इस मैच की पहली पारी में उन्होंने धमाकेदार प्रदर्शन कर दोहरा शतक जड़ा था। पहली पारी में 215 रन बनाने वाले मयंक दूसरी पारी में मात्र 7 रन ही बना पाए थे। उन्होंने अब पुणे में द. अफ्रीका के खिलाफ दूसरे टेस्ट की पहली पारी में अर्द्धशतक लगा दिया है।

मयंक का टेस्ट क्रिकेट में प्रदर्शन :

76 रन और 42 रन वि. ऑस्ट्रेलिया (मेलबर्न- 26 दिसंबर 2018 से)

77 रन वि. ऑस्ट्रेलिया (सिडनी - 3 जनवरी 2019 से)

5 रन और 16 रन वि. वेस्टइंडीज (नॉर्थ साउंड - 22 अगस्त से)

55 रन और 4 रन वि. वेस्टइंडीज (किंग्सटन - 30 अगस्त से)

215 रन और 7 रन वि. दक्षिण अफ्रीका (विशाखापत्तनम - 2 अक्टूबर से)

108 वि. दक्षिण अफ्रीका (पुणे - 10 अक्टूबर से)

द. अफ्रीका के खिलाफ लगातार मैचों में शतक लगाने वाले दूसरे भारतीय बल्लेबाज :

मयंक ने दक्षिण अफ्रीका के खिलाफ लगातार दूसरे टेस्ट में शतक लगाया। वे इसी के साथ द. अफ्रीका के खिलाफ लगातार मैचों में शतक लगाने वाले दूसरे भारतीय बल्लेबाज बने। सहवाग ने यह कारनामा 2009-10 में किया था। मयंक ने अब द. अफ्रीका के खिलाफ 215 और 108 रन बनाए।