मल्टीमीडिया डेस्क। India vs South Africa 2nd Test: भारत और दक्षिण अफ्रीका के बीच गुरुवार से पुणे के महाराष्ट्र क्रिकेट एसोसिएशन (MCA) में दूसरा टेस्ट मैच खेला जाएगा। भारत तीन मैचों की सीरीज में 1-0 की बढ़त बना चुका है। विराट कोहली चाहेंगे कि टीम इंडिया इस सीरीज के अगले दोनों मैच जीतकर दक्षिण अफ्रीका का सफाया करे। यदि भारत ऐसा करने में सफल रहता है तो विराट 87 साल पुराने एक खास रिकॉर्ड को ध्वस्त कर देंगे।

विराट के नेतृत्व में टीम इंडिया दक्षिण अफ्रीका के खिलाफ अपने घर में 4 टेस्ट मैच जीत चुकी है। यदि भारत ने अगले दोनों मैच जीत लिए तो यह संख्या 6 तक पहुंच जाएगी और विराट इसी के साथ दक्षिण अफ्रीका के खिलाफ अपने घर में सबसे ज्यादा टेस्ट मैच जीतने वाले दुनिया के पहले कप्तान बन जाएंगे। अभी यह रिकॉर्ड ऑस्ट्रेलिया के बिल विलफुड के नाम दर्ज है, जिनके नेतृत्व में ऑस्ट्रेलिया ने 1931-32 में द. अफ्रीका के खिलाफ अपने घर में 5 टेस्ट मैच जीते थे।

बढ़त को मजबूत करने उतरेगा भारत :

भारत ने पिछले दिनों विशाखापत्तनम में हुआ पहला टेस्ट मैच 203 रनों से जीतकर सीरीज में शानदार आगाज किया था। रोहित शर्मा टेस्ट क्रिकेट में पहली बार ओपनर के रूप में खेले और उन्होंने कई रिकॉर्ड ध्वस्त किए। रोहित टेस्ट ओपनर के रूप में अपने पहले टेस्ट की दोनों पारियों में शतक (176 और 127 रन) लगाने वाले दुनिया के पहले बल्लेबाज बने थे। उन्होंने टेस्ट ओपनर के रूप में अपने पहले ही मैच में सबसे ज्यादा रन (303 रन) बनाने का कीर्तिमान भी अपने नाम किया था। मयंक अग्रवाल ने भारत की पहली पारी में शानदार दोहरा शतक जड़ा था जबकि टेस्ट क्रिकेट में वापसी करते हुए रविचंद्रन अश्विन ने द. अफ्रीका की पहली पारी में 7 विकेट लिए थे। द. अफ्रीका की वर्तमान टीम अपेक्षाकृत अनुभवहीन है और पहले टेस्ट के परिणाम को देखते हुए भारत को इस सीरीज में उसका सफाया करने में परेशानी नहीं होनी चाहिए। यदि ऐसा हुआ तो विराट के नाम भी यह खास रिकॉर्ड दर्ज हो जाएगा।

भारत ने 2015 में अपने घर में जीते थे तीन टेस्ट :

विराट के नेतृत्व में भारत ने दक्षिण अफ्रीका के खिलाफ अपने घर में अभी तक 5 टेस्ट मैच खेले हैं जिनमें से भारत ने 4 मैचों में जीत दर्ज की जबकि 1 टेस्ट मैच ड्रॉ रहा था। टीम इंडिया के लिए 2015 में अपने घर में हुई सीरीज शानदार रही थी जब विराट के जांबांजों ने दक्षिण अफ्रीका को चार मैचों की सीरीज में 3-0 से हराया था। भारत ने मोहाली में 5 से 7 नवंबर तक हुए पहले टेस्ट मैच में द. अफ्रीका को 108 रनों से हराकर सीरीज में 1-0 की बढ़त बनाई थी। इसके बाद बेंगलुरु में 14 नवंबर से हुआ दूसरा टेस्ट मैच ड्रॉ रहा था। विराट की टीम इंडिया ने इसके बाद 25 नवंबर से नागपुर में हुए तीसरे टेस्ट मैच में 124 रनों से जीत हासिल कर 2-0 की बढ़त बनाई थी। सीरीज का चौथा और अंतिम टेस्ट मैच दिल्ली में 3 दिसंबर से खेला गया था जिसमें भारत ने 337 रनों से धमाकेदार जीत दर्ज की थी।