बेंगलुरु (एजेंसियां)। भारत और दक्षिण अफ्रीका के बीच टी20 सीरीज का तीसरा और अंतिम मैच बेंगलुरु में होगा। टीम इंडिया इस मुकाबले को जीतकर सीरीज पर कब्जा करना चाहती है, वहीं दक्षिण अफ्रीकी टीम इसे जीतकर सीरीज को 1-1 से बराबर करने के इरादे से मैदान में उतरेगी। दरअसल दक्षिण अफ्रीकी टीम बेंगलुरु के चिन्नास्वामी स्टेडियम के रिकॉर्ड का फायदा उठाना चाहती है, जो भारत के पक्ष में ज्यादा अच्छा नहीं है।

चिन्नास्वामी स्टेडियम में टीम इंडिया का टी20 का रिकॉर्ड मिलाजुला रहा है। यहां भारत ने अब तक 4 टी20 अंतरराष्‍ट्रीय मैच खेले हैं। इनसे में उसने 2 मैच जीते हैं, जबकि 2 में उसे हार का सामना करना पड़ा है। ऐसे में टीम इंडिया इस मैदान पर अपराजेय नहीं है और इस रिकॉर्ड का ही दक्षिण अफ्रीका फायदा उठाना चाहेगी। हालांकि बेंगलुरु को टीम इंडिया के कप्तान विराट कोहली का दूसरा होमग्राउंड माना जाता है। बता दें कि विराट आईपीएल में बेंगलुरु बेस्ड रॉयल चैलेंजर बेंगलुरु के कप्तान हैं।

लेकिन टीम इंडिया को यहां अपने पिछले रिकॉर्ड का डर है। जाहिर है टीम इंडिया इस रिकॉर्ड को प्लेइंग इलेवन चुनते समय ध्यान रखेगी। यहां खेले 4 मैचों को लेकर एक दिलचस्‍प आंकड़ा ये भी है कि टॉस जीतकर यहां टीम इंडिया ने हमेशा पहले बल्‍लेबाजी करने का फैसला लिया है।

पिछले मैच में मिली हार

भारत ने यहां मार्च 2016 को टी20 वर्ल्‍ड कप का मैच खेला था। बांग्लादेश के खिलाफ हुए बेहद रोमांचक मुकाबले में भारत ने 1 रन से जीत दर्ज की थी। इसके बाद फरवरी 2017 को टीम इंडिया ने इंग्लैंड को 75 रनों से हराया। इससे पहले पाकिस्तान ने यहां 2012 में भारत को 5 विकेट से हराया था। वहीं फरवरी 2019 में भारत को ऑस्ट्रेलिया के हाथों 7 विकेट की करारी शिकस्त मिली थी। भारत और दक्षिण अफ्रीका के बीच पहली बार यहां मुकाबला खेला जाएगा।

बल्‍लेबाजों की मददगार पिच

आईपीएल 2019 में बेंगलुरु के चिन्नास्वामी स्टेडियम में औसतन 180 रन का स्कोर बना है, इससे अंदाजा लगाया जा सकता है कि यहां बल्लेबाजों की मददगार पिच रहती है। इसके अलावा स्टेडियम छोटा होने का फायदा भी बल्लेबाजों को मिलता है जिससे काफी रन बनते हैं। बल्लेबाज यहां आसानी से बड़े शॉट लगा पाते हैं। पिच पर बाउंस अच्‍छा मिलने से गेंद बेहतर तरीके से बल्ले पर आती है जिससे बल्लेबाजों को शॉट खेलने में फायदा होता है।

स्पिन गेंदों का जाल

इस मैदान पर स्पिन गेंदबाजों में लेग स्पिनर की तूती बोलती हैण् 2018 के बाद से लेग स्पिनर्स ने 15 मैचों में 34 विकेट चटकाए हैंण् रॉयल चैलेंजर्स बैंगलोर की ओर से आईपीएल में खेलने वाले युजवेंद्र चहल ने यहां पर काफी विकेट बटोरे हैंण् ऐसे में युवा लेग स्पिनर राहुल चाहर का प्‍लेइंग इलेवन में मौका मिल सकता हैण् उनके अलावा टीम इंडिया के पास रवींद्र जडेजाए वॉशिंगटन सुंदर और क्रुणाल पंड्या के रूप में उपयोगी स्पिनर हैंण्

क्विंटन डीकॉक टीम इंडिया के लिए मुसीबत

दक्षिण अफ्रीका के टी20 कप्‍तान डीकॉक को बेंगलुरु का मैदान काफी पसंद आता हैण् आईपीएल में खेलते हुए उन्‍होंने यहां पर 10 टी20 पारियों में 384 रन बनाए हैंण् वे यहां पर दो अर्धशतक और एक शतक लगा चुके हैंण् मोहाली में खेले गए दूसरे टी20 मुकाबले में भी उन्‍होंने भारत के लिए एक समय मुश्किलें खड़ी कर दी थीण्