रांची। दक्षिण अफ्रीका के खिलाफ यहां खेले जा रहे तीसरे और अंतिम टेस्ट में भी भारत बड़ी जीत के करीब है।आलम ये है कि दक्षिण अफ्रीका पर सीरीज में लगातार दूसरी बार पारी की हार का खतरा मंडरा रहा है। तीसरे दिन का खेल समाप्त होने तक दक्षिण अफ्रीका ने अपनी दूसरी पारी में 46 ओवरों में 8 विकेट खोकर 132 रन बना लिए। वो अभी भी 203 रन पीछे है और उसके केवल 2 विकेट शेष हैं। तीसरे दिन का खेल समाप्त होने के समय थ्यूनिस ब्रुइन 30 और एनरिच नोर्त्जे 5 रन बनाकर खेल रहे हैं।

बता दें कि भारत की पहली पारी के 9 विकेट पर 497 रन पर घोषित के जवाब में दक्षिण अफ्रीका की पहली पारी तीसरे दिन लंच ब्रेक के बाद 162 रनों पर समाप्त हुई। पहली पारी के आधार पर भारत को 335 रनों की विशाल बढ़त मिली।

भारत ने दक्षिण अफ्रीका को फॉलोआन के लिए बुलाया। दूसरी पारी में भी दक्षिण अफ्रीका की शुरुआत खराब रही। टी ब्रेक तक दक्षिण अफ्रीका ने दूसरी पारी में 4 विकेट और खेल समाप्त होने तक 8 विकेट खो दिए। पहली पारी की तरह दूसरी पारी में भी दक्षिण अफ्रीका के बल्लेबाज नाकाम रहे। अंतिम क्रम के बल्लेबाजों ने ही टीम के लिए रन बनाए और फिलहाल उसे शर्मनाक हार से बचाने के लिए संघर्ष कर रहे हैं। दक्षिण अफ्रीकी बल्लेबाजी की स्थिति का अंदाजा इस बात से लगाया जा सकता है कि क्विंटन डी कॉक, जुबैर हमजा, फाफ डु प्लेसिस, तेंबा बावुमा और हेनरिच क्लासेन दोहरी रन संख्या तक भी नहीं पहुंच पाए। दूसरी पारी में प्रोटीज टीम के लिए जॉर्ज लिंडे ने 27, डेन पिट ने 23, रबाडा ने 12 रन बनाए। जबकि सबसे ज्यादा योगदान थ्यूनिस ब्रुइन ने दिया है जो 30 रन बनाकर खेल रहे हैं। भारत के लिए मोहम्मद शमी ने 3, उमेश यादव ने 2 और रवींद्र जडेजा और अश्विन ने 1-1 विकेट लिया है।

इससे पहले लंच के बाद भारत ने 4 विकेट झटककर दक्षिण अफ्रीकी पारी समेटी। लंच के समय दक्षिण अफ्रीका का स्कोर 6 विकेट पर 129 रन था। उसने डेन पिट (4) और रबाडा (0) के विकेट जल्दी खो दिए थे। लेकिन बाद में जॉर्ज लिंडे ने एनरिच नोर्त्ज (4 रन, 55 गेंद) को साथ लेकर भारत को काफी संघर्ष कराया। लिंडे ने 81 गेंदों पर 3 चौकों और एक छक्के की मदद से 37 रन बनाए। शमी ने पिट को एलबीडब्ल्यू कर इस जोड़ी को तोड़ा। लिंडे के आउट होते ही अगले ओवर में नोर्त्जे भी नदीम के शिकार हो गए। इस तरह दक्षिण अफ्रीका की पहली पारी 56.2 ओवरों में 162 रनों पर सिमटी।

Innings Break!

The debutant picks up the final wicket and South Africa are all out for 162 runs.#TeamIndia lead by 335 runs #INDvSA pic.twitter.com/LtgXHmbyt8

— BCCI (@BCCI) October 21, 2019

इससे पहले ब्रेक तक दक्षिण अफ्रीका ने 36 ओवर 6 विकेट पर 129 रन बना लिए थे।

A great morning session for #TeamIndia bowlers as they pick up 4 wickets and reduce South Africa to 129/6 on Day 3 of the 3rd Test.

Updates - https://t.co/aHgpd1BT6z #INDvSA pic.twitter.com/BLtY3t8Xva

— BCCI (@BCCI) October 21, 2019

तीसरे दिन का खेल शुरू होने पर उम्मीद थी कि दक्षिण अफ्रीका संघर्षपूर्ण जवाब देगा, लेकिन उमेश यादव ने भारत को दिन के पहले ही ओवर में सफलता दिला दी। उन्होंने कप्तान फॉफ डु प्लेसिस को बोल्ड किया। डु प्लेसिस केवल 1 रन बना पाए। इस समय दक्षिण अफ्रीका का स्कोर केवल 16 रन था।

इसके बाद हमजा और बावुमा ने दक्षिण अफ्रीकी पारी को संभाला। दोनों ने संयमित बल्लेबाजी करते हुए रन बनाए और विकेटों के पतन को रोका। इसी दौरान हमजा ने अपना अर्द्धशतक पूरा किया। दोनों बड़ी साझेदारी की ओर बढ़ रहे थे कि जडेजा ने हमजा का विकेट लेकर इस साझेदारी को तोड़ दिया। हमजा ने 79 गेंदों में 10 चौकों और 1 छक्के की मदद से 62 रन बनाए। हमजा और बावुमा के बीच चौथे विकेट के लिए 91 रन जोड़े। हमजा के आउट होते ही दक्षिण अफ्रीकी पारी फिर लड़खड़ा गई। भारत ने फिर लंच के पहले बावुमा और हेनरिच क्लासेन के विकेट भी झटके। अपना पहला टेस्ट खेल रहे झारखंड के शाहबाज नदीम ने बावुमा का बड़ा विकेट लेकर अपने करियर का पहला विकेट हासिल किया। बावुमा ने 32 रन (72 गेंद, 5 चौके) बनाए। इसके बाद जडेजा ने क्लासेन (6) को बोल्ड किया।

इससे पहले दूसरे दिन शमी ने पहले ही ओवर में डीन एल्गर का विकेट झटककर मेहमानों को झटका दे दिया। एल्गर को विकेटकीपर रिद्धिमान साहा ने कैच आउट किया। एल्गर खाता भी नहीं खोल पाए। इसके बाद बारी थी उमेश यादव की। उमेश ने बाउंसर पर क्विंटन डी कॉक को विकेटकीपर साहा के हाथों कैच कराया। ये दूसरा अफ्रीकी विकेट केवल 8 के स्कोर पर गिरा। इससे पहले द. अफ्रीका ने खराब रोशनी के कारण दूसरे दिन का खेल जल्दी खत्म किए जाने तक 5 ओवर में 2 विकेट पर 9 रन बनाए थे।

ऐसी रही भारतीय पारी

भारत ने अपनी पहली पारी 9 विकेट पर 497 रन बनाकर घोषित की। रोहित शर्मा अपने टेस्ट करियर का पहला दोहरा शतक (212) और अजिंक्य रहाणे 11वां टेस्ट शतक (115) बनाकर आउट हुए। दोनों ने चौथे विकेट के लिए 267 रनों की भागीदारी की। भारत ने दूसरे दिन पहली पारी में 224/3 से आगे खेलना शुरू की थी। रहाणे ने एनरिच नोर्त्जे की गेंद पर 1 रन लेकर शतक पूरा किया। वे 169 गेंदों में 14 चौकों और 1 छक्के की मदद से शतक तक पहुंचे। उनका यह दक्षिण अफ्रीका के खिलाफ तीसरा टेस्ट शतक है। रोहित और रहाणे की खतरनाक साबित होती साझेदारी को जॉर्ज लिंडे ने तोड़ा। उन्होंने रहाणे का विकेटकीपर हेनरिक क्लासेन के हाथों झिलवाया, यह उनका टेस्ट क्रिकेट में पहला विकेट है। रहाणे ने 192 गेंदों पर 19 चौकों और 1 छक्कों की शतक ले 115 रन बनाए। उन्होंने चौथे विकेट के लिए रोहित के साथ 267 रनों की साझेदारी की।

उधर रोहित ने डेन पिट की गेंद पर चौका लगाकर अपने स्कोर को 179 तक पहुंचाया और यह उनका टेस्ट क्रिकेट में सर्वाधिक स्कोर हो गया। इससे पहले उनका सर्वाधिक स्कोर 177 था जो उन्होंने नवंबर 2013 में कोलकाता में वेस्टइंडीज के खिलाफ बनाया था। रोहित ने लुंगी नजीडी की गेंद पर छक्का लगाकर दोहरा शतक पूरा किया। वे 249 गेंदों में 28 चौकों और 5 छक्कों की मदद से दोहरे शतक तक पहुंचे। रोहित 212 रन बनाकर कगिसो रबाडा की गेंद पर लुंगी नजीडी को कैच थमा बैठे। उन्होंने 255 गेंदों में 28 चौके और 6 छक्के लगाए।

रोहित के आउट होने के बाद जडेजा और साहा ने छठे विकेट के लिए 47 रनों की भागीदारी की। साहा (24) को जॉर्ज लिंडे ने बोल्ड किया। जडेजा ने लिंडे की गेंद पर 2 रन लेकर फिफ्टी पूरी की। वे लिंडे की गेंद पर विकेटकीपर क्लासेन द्वारा लपके गए। उन्होंने 51 रन बनाए। रविचंद्रन अश्विन 14 रन बनाकर डेन पिट की गेंद पर विकेटकीपर क्लासेन द्वारा स्टंप किए गए। उमेश यादव ने इसके बाद छोटी किंतु आक्रामक पारी खेली। वे 10 गेंदों में 5 छक्कों की मदद से 31 रन बनाकर लिंडे की गेंद पर विकेटकीपर क्लासेन को कैच दे बैठे। टेस्ट डेब्यू करने वाले लिंडे ने 133 रनों पर 4 विकेट लिए जबकि कगिसो रबाडा को 3 विकेट मिले।

Posted By: