मल्टीमीडिया डेस्क। भारत और दक्षिण अफ्रीका के बीच तीन टी20 मैचों की सीरीज रविवार से धर्मशाला में शुरू होगी। टी20 रैंकिंग की तीसरे और चौथे क्रम की टीमों के बीच जोरदार संघर्ष होने की उम्मीद है। विराट कोहली की टीम इंडिया की निगाहें इतिहास रचने पर होगी, क्योंकि भारत अभी तक इस फॉर्मेट में दक्षिण अफ्रीका को कभी हरा नहीं पाया है।

टी20 क्रिकेट में वैसे तो भारत का दक्षिण अफ्रीका के खिलाफ रिकॉर्ड बेहतर रहा है लेकिन उसे इस टीम के खिलाफ अपनी धरती पर अभी तक एक भी जीत नसीब नहीं हुई है। इन दोनों टीमों के बीच अभी तक कुल 13 टी20 मैच हो चुके हैं जिनमें से भारत ने 8 और द. अफ्रीका ने 5 मैच जीते है। भारत में इन दो टीमों के बीच अभी तक दो मैच खेले गए हैं और इन दोनों मैचों में मेहमान टीम विजयी हुई थी। द. अफ्रीका ने अक्टूबर 2015 में भारत में हुई तीन टी20 मैचों की सीरीज पर 2-0 से कब्जा जमाया था, कोलकाता में तीसरा मैच बिना एक भी गेंद के बारिश की भेंट चढ़ा था।

इस सीरीज का पहला मैच धर्मशाला में ही खेला गया था। यह हिमाचल प्रदेश क्रिकेट एसोसिएशन स्टेडियम पर खेला गया पहला टी20 मैच था। भारत को ओपनर रोहित शर्मा के शतक (106) के बावजूद इस मैच में 7 विकेट से हार झेलनी पड़ी थी। रोहित के शतक पर जेपी डुमिनी (68) और एबी डीविलियर्स (51) की अर्द्धशतकीय पारियां भारी पड़ी थी और मेहमान टीम ने 2 गेंद शेष रहते टारगेट हासिल किया था।

दक्षिण अफ्रीका ने कटक में खेले गए सीरीज के दूसरे मैच में भी भारत को हराया था। एल्बी मॉर्केल की अगुवाई में गेंदबाजों के शानदार प्रदर्शन के सामने भारतीय पारी 17.2 ओवरों में 92 रनों पर सिमट गई। रोहित शर्मा और सुरेश रैना ने 22-22 रन बनाए। मॉर्केल ने 12 रनों पर 3 विकेट लिए। इमरान ताहिर और क्रिस मॉरिस ने 2-2 विकेट लिए। इसके जवाब में द. अफ्रीका ने 17.1 ओवरों में 4 विकेट खोकर टारगेट हासिल किया।

इन दोनों देशों के बीच तीन टी20 मैचों की सीरीज तीसरी बार खेली जाएगी। इससे पहले दोनों टीमों ने एक-एक सीरीज जीतने में सफलता हासिल की है। द. अफ्रीका ने भारत को उसी के घर में 2015 में हराया था तो भारत ने 2018 में द. अफ्रीका को उसी के घर में 2-1 से हराकर हिसाब चुकता किया था।