रांची। India vs South Africa: भारत के रोहित शर्मा के लिए दक्षिण अफ्रीका के खिलाफ मगंलवार को खत्म हुई तीन टेस्ट मैचों की सीरीज यादगार बन गई। टेस्ट क्रिकेट में पहली बार ओपनर के रूप में खेलते हुए रोहित ने इस सीरीज में 3 शतकों की मदद से 529 रन बनाए और वे मैन ऑफ द सीरीज चुने गए। सीरीज की समाप्ति के बाद भारतीय कप्तान विराट कोहली ने रोहित की ओपनर के रूप में सफलता का राज उजागर किया।

विराट ने रोहित की जमकर तारीफ की। उन्होंने कहा, रोहित ओपनर के रूप में इसलिए सफल हुए क्योंकि उन्होंने चिंता और संकोच को अपने उपर हावी नहीं होने दिया। इस बात का श्रेय पूरी तरह रोहित को जाता है। उन्होंने पहली बार टेस्ट ओपनर के रूप में खेलने के बावजूद शानदार प्रदर्शन किया और सीरीज के सर्वश्रेष्ठ खिलाड़ी चुने गए।

विराट ने कहा, इस बात को लेकर संदेह व्यक्त किया जा रहा था कि रोहित टेस्ट ओपनर के रूप में कैसा प्रदर्शन करेंगे। वे सीमित ओवरों के फॉर्मेट में तो लंबे समय से दुनिया के श्रेष्ठ ओपनर के रूप में खेल रहे थे। बारिश के कारण करीब दो सत्रों का खेल खराब होने के बावजूद उन्होंने जिस तेज गति से बल्लेबाजी की उससे हमें विपक्षी टीम को दो बार आउट करने का मौका मिला।

32 वर्षीय रोहित टेस्ट में पहली बार पारी की शुरुआत करते हुए दोनों पारियों में शतक लगाने वाले दुनिया के पहले बल्लेबाज बने। उन्होंने विशाखापत्तनम टेस्ट मैच की दोनों पारियों में यह कमाल किया था। वे पुणे टेस्ट में अच्छा प्रदर्शन नहीं कर पाए लेकिन उन्होंने इस कमी को रांची में तीसरे टेस्ट में दोहरा शतक जड़ते हुए दूर किया। उन्होंने अपने टेस्ट करियर का पहला दोहरा शतक (212) लगाया।

रांची टेस्ट में रोहित के दोहरे शतक और अजिंक्य रहाणे के शतक (115) की मदद से भारत ने अपनी पहली पारी 9 विकेट पर 497 रन बनाकर घोषित की। इसके बाद भारतीय गेंदबाजों ने दमदार प्रदर्शन कर दक्षिण अफ्रीका की पहली पारी को 162 रनों पर समेटा। पहली पारी में 335 रनों से पिछड़ने के बाद फॉलोऑन में खेल रही दक्षिण अफ्रीका की दूसरी पारी 133 रनों पर सिमट गई। भारत ने यह टेस्ट पारी और 202 रनों से जीता। यह भारत की दक्षिण अफ्रीका पर सबसे बड़ी जीत है और उसने पहली बार दक्षिण अफ्रीका का 3-0 से सफाया किया।

Posted By: Kiran Waikar

fantasy cricket
fantasy cricket