चेन्नई। भारत (India) और वेस्टइंडीज (West Indies) के बीच पहले इंटरनेशनल वनडे के दौरान रवींद्र जडेजा (Ravindra jadeja) को विवादास्पद ढंग से रन आउट दिए जाने के फैसले के बाद भारतीय कप्तान विराट कोहली (Virat Kohli) भड़क गए। मैदानी अंपायर ने इस मामले में बहुत देर बाद थर्ड अंपायर की मदद मांगी जिसके बाद जडेजा को आउट दिया गया। विराट ने वेस्टइंडीज के सपोर्ट स्टाफ पर ये कहते हुए नाराजगी जताई कि बाहरी लोग इस तरह मैदान के अंदर खिलाड़ियों को जानकारी नहीं दे सकते।

भारत की पारी में 48वें ओवर में यह मामला हुआ। किमो पॉल द्वारा डाली गई चौथी गेंद को जडेजा ने सिली मिडऑफ की तरफ खेला और रन के लिए दौड़े। रोस्टन चेस ने गेंद पकड़कर नॉन स्ट्राइकर छोर पर डायरेक्ट थ्रो से गिल्लियां बिखेर दी। कैरेबियाई खिलाड़ियों ने कोई जोरदार अपील नहीं की और अंपायर भी आश्वस्त थे कि जड़ेजा क्रीज के अंदर पहुंच चुके हैं। इसी बीच बड़ी स्क्रीन पर दिखाए गए रिप्ले में नजर आया कि जब गिल्लियां उड़ी तब जडेजा क्रीज के अंदर नहीं पहुंचे थे इसके बाद कैरेबियाई कप्तान किरोन पोलार्ड ने इस फैसले में थर्ड अंपायर की राय लेने को कहा। इसके बाद मैदानी अंपायर ने थर्ड अंपायर से मदद के लिए सिग्नल किया और जडेजा को आउट दिया गया।

विराट कोहली इस तरह देरी से थर्ड अंपायर की मदद लिए जाने से नाराज दिखे। वे अपने गुस्से का इजहार करते हुए बाउंड्री लाइन तक पहुंच गए थे। कमेंटेटर भी इतनी देरी से थर्ड अंपायर की मदद लिए जाने के मामले में हैरान नजर आए। बताया जा रहा है कि कैरेबियाई कप्तान पोलार्ड ने अपने सपोर्ट स्टाफ की सलाह के बाद मैदानी अंपायर के सामने अपील की थी। गेंद डेड हुई थी या नहीं, इसे लेकर भी अलग-अलग राय सामने आ रही हैं। वैसे तारीफ करनी होगी रवींद्र जडेजा की जिन्होंने इस मामले में संयम बनाए रखा और कोई अभद्रता नहीं की। जडेजा 21 रन बनाकर आउट हुए।

Posted By: Kiran Waikar

fantasy cricket
fantasy cricket