Indian T20 League: आईपीएल का धमाल शुरू होने जा रहा है। कोरोना महामारी के कारण इस बार मैच भारत नहीं बल्कि यूएई में खेले जा रहे हैं। शुरुआती मुकाबला मुंबई और चेन्नई के 19 सितंबर को खेला जाना है। इन मैचों में सबसे ज्यादा परीक्षा होती है कप्तान की। कप्तान के एक फैसले से मैच पलट सकता है। यहां हम आईपीएल इतिहास के तीन ऐसे खिलाड़ियों के बारे में बता रहे हैं, जिन्होंने एक, दो बनीं बल्कि तीन तीन अलग टीमों की कप्तान की। ये हैं ऑस्ट्रेलिया के स्टीव स्मिथ, श्रींलका के महेला जयवर्धने और श्रीलंका के ही कुमार संगकारा।

स्टीव स्मिथ को रॉयल चैलेंजर्स बैंगलुरू ने पहली बार 2010 में साइन किया था। हालांकि 3 बार की आईपीएल रनर-अप टीम ने उन्हें इसके बाद रिहा कर दिया। फिर स्मिथ आईपीएल में पुणे वारियर्स के लिए खेले। टीम के नियमित कप्तान सौरव गांगुली रॉयल चैलेंजर्स बैंगलुरू के खिलाफ नहीं खेल पाए थे और स्मिथ को पहली बार इस टीम की कप्तानी मिली थी। बता दें, टीम प्रबंधन के पास माइकल क्लार्क और एंजेलो मैथ्यूज जैसे कुछ अनुभवी नाम थे। फिर भी उन्होंने स्मिथ पर भरोसा दिखाया। दुर्भाग्य से पुणे 35 रन से वह मैच हार गया।

पुणे वॉरियर्स के आईपीएल छोड़ने के बाद स्मिथ ने राजस्थान रॉयल्स का रुख किया और 2015 में जयपुर स्थित फ्रेंचाइजी का नेतृत्व किया। दुर्भाग्य से राजस्थान को 2015 सीजन के बाद आईपीएल से 2 साल के लिए निलंबित कर दिया गया।

राइजिंग पुणे सुपरजायंट ने स्मिथ के साथ करार किया और उन्हें आईपीएल 2017 में कप्तानी सौंपी। स्मिथ ने उस सीजन में टीम का नेतृत्व किया, जहां पुणे मुंबई इंडियंस से हार गया था। वह 2019 में राजस्थान वापस आए और टीम मैनेजमेंट ने कप्तानी की जिम्मेदारी सौंपी है। कुल मिलाकर 31 वर्षीय स्मिथ खिलाड़ी की जीत प्रतिशत 68% है।

महेला जयवर्धने आईपीएल 2020 में मुंबई इंडियंस के मुख्य कोच हैं। श्रीलंका के पूर्व कप्तान ने अपने करियर में कई फ्रेंचाइजी के लिए क्रिकेट खेला था। उन्होंने आईपीएल करियर की शुरुआत 2008 में पंजाब से की थी। युवराज सिंह कप्तान के रूप में टीम की पहली पसंद थे, लेकिन प्रबंधन ने कुमार संगकारा को 2010 में कप्तान नियुक्त किया। हालांकि, संगकारा को उनकी धीमी गति के कारण एक मैच का प्रतिबंध लगा। फिर पंजाब ने उनके स्थान पर महेला जयवर्धने को चुना। 2011 में दाएं हाथ के बल्लेबाज कोच्चि टस्कर्स केरल चले गए और प्रबंधन ने उन्हें सीधे टीम का कप्तान नियुक्त किया।

कोच्चि 2011 के सीजन से आगे नहीं बढ़ी, जिसके बाद दिल्ली कैपिटल ने जयवर्धने के साथ करार किया। श्रीलंकाई दिग्गज ने अपने करियर के खत्म होने से पहले कुछ आईपीएल खेलों में राजधानी स्थित फ्रेंचाइजी का नेतृत्व किया। हालांकि जयवर्धने का अंतर्राष्ट्रीय क्रिकेट में शानदार कप्तानी का रिकॉर्ड था, लेकिन वह 29 आईपीएल खेलों में से केवल 10 में ही जीत पाए जिसमें उन्होंने अपनी टीम का नेतृत्व किया।

इस सूची में एक और पूर्व श्रीलंकाई क्रिकेट टीम के कप्तान कुमार संगकारा हैं। बाएं हाथ के विकेटकीपर बल्लेबाज ने आईपीएल में किंग्स इलेवन पंजाब, डेक्कन चार्जर्स और सनराइजर्स हैदराबाद का नेतृत्व किया।

संगकारा ने 2010 में युवराज सिंह के स्थान पर KXIP की कप्तान की थी। 2011 में उन्होंने डेक्कन चार्जर्स के लिए आईपीएल खेला और टीम की कप्तानी की। दो साल बाद सनराइजर्स हैदराबाद ने लीग में चार्जर्स की जगह ली। 15-30 के उनके जीत-हार के रिकॉर्ड से पता चलता है कि कुमार संगकारा को आईपीएल में कप्तानी रास नहीं आई।

Posted By: Arvind Dubey

नईदुनिया ई-पेपर पढ़ने के लिए यहाँ क्लिक करे

नईदुनिया ई-पेपर पढ़ने के लिए यहाँ क्लिक करे

डाउनलोड करें नईदुनिया ऐप | पाएं मध्यप्रदेश, छत्तीसगढ़ और देश-दुनिया की सभी खबरों के साथ नईदुनिया ई-पेपर,राशिफल और कई फायदेमंद सर्विसेस

डाउनलोड करें नईदुनिया ऐप | पाएं मध्यप्रदेश, छत्तीसगढ़ और देश-दुनिया की सभी खबरों के साथ नईदुनिया ई-पेपर,राशिफल और कई फायदेमंद सर्विसेस