IPL 2021 सीजन के दिल्ली कैपिटल ने युवा विकेटकीपर बल्लेबाज ऋषभ पंत को कप्तानी सौंपी है। इससे पहले के दो सीजन में श्रेयस अय्यर टीम की कप्तानी संभव रहे थे। लेकिन इंग्लैंड के साथ सीरीज में लगी कंधे की चोट के कारण श्रेयस अय्यर आईपीएल से बाहर हो गए हैं। इसे देखते हुए टीम मैनेजमेंट और कोच रिकी पॉन्टिंग ने ऋषभ पंत को कप्तान बनाने का फैसला किया। माना जा रहा है कि ऑस्ट्रेलिया और इंग्लैंड के खिलाफ सीरीज में पंत की साहसिक और धुआंधार पारी को देखते हुए उन्हें ये जिम्मेदारी सौंपी गई है।

ऋषभ पंत ने कप्तान बनने के बाद कहा, 'दिल्ली जहां मैं बड़ा हुआ और जहां छह साल पहले अपनी आईपीएल यात्रा शुरू की, ऐसी टीम का एक दिन कप्तान बनना हमेशा से मेरा सपना था। आज मेरा सपना पूरा हो गया।'

23 साल के विकेटकीपर बल्लेबाज ऋषभ पंत ने दिल्ली कैपिटल से ही अपने आईपीएल करियर का आगाज किया था। वो पिछले 6 साल से दिल्ली कैपिटल्स से जुड़े हैं। दिल्ली में ही पले-बढ़े पंत के लिए ये एक शानदार मौका है। IPL में भले ही उन्हें पहली बार कप्तानी मिली हो, लेकिन इससे पहले भी वो ये जिम्मेदारी संभाल चुके हैं। ऋषभ पंत साल 2017 में सैयद मुश्ताक अली ट्रॉफी में दिल्ली के कप्तान रहे थे। इसके अलावा उन्होंने रणजी में भी दिल्ली टीम का नेतृत्व संभाला है।

उनके चुने जाने पर दिल्ली कैपिटल के मुख्य कोच रिकी पॉन्टिंग ने कहा कि पिछले दो सीजन में श्रेयस अय्यर ने शानदार कप्तानी की थी और अच्छे नतीजे भी आये थे। अब ऋषभ पंत के लिए ये एक बेहतरीन मौका है। इंग्लैंड और ऑस्ट्रेलिया के खिलाफ उन्होंने ने जिस तरह का प्रदर्शन किया, उससे उन्हें नई जिम्मेदारी को निभाने का आत्मविश्वास मिलेगा।

Posted By: Shailendra Kumar