IPL 2021, DC vs CSK : आज आईपीएल 2021 के प्लेऑफ का पहला क्वालिफायर मैच होनेवाला है। इसमें अंक तालिका में टॉप पोजिशन पर मौजूद दो टीमें, दिल्ली कैपिटल्स और चेन्नई सुपर किंग्स के बीच मुकाबला होना है। आज के मैच में जो ये मुक़ाबला जीतेगा उसे सीधे फ़ाइनल में प्रवेश मिलेगा, और जो हारेगा उसे एक और मौक़ा मिलेगा। जहां उन्हें तीसरे और चौथे स्थान पर रहने वाली टीम के बीच होने वाली भिड़ंत में विजेता टीम का सामना करना होगा। लीग स्टेज में दिल्ली ने दोनों मुकाबलों में चेन्नई को हराया था, लेकिन प्लेऑफ में मामला अलग होगा। चेन्नई की टीम 11 बार प्लेऑफ में पहुंच चुकी है, और ऐसे में उसे नॉकआउट मुकाबलों का खासा अनुभव है। ऐसे में दोनों के बीच कड़ा मुकाबला होने की पूरी उम्मीद है।

क्यों भारी पड़ सकता है दिल्ली कैपिटल्स?

दिल्ली कैपिटल्स का प्रदर्शन IPL 2021 में लगातार शानदार रहा है और वह निरंतर अच्छा प्रदर्शन करने वाली टीमों में से एक है। इन्होंने चेन्नई को दोनों लीग मैच में शिकस्त दी है। 2019 में इस टीम को दूसरे क्वालिफ़ायर में हार मिली थी, जबकि 2020 में ये टीम अंक तालिका में दूसरे स्थान पर थी और फ़ाइनल में हार गई थी। लेकिन दिल्ली पिछले तीन सीजन से ही लगातार अच्छा कर रही है और प्लेऑफ में पहुंच रही है। इसलिए इस बार इनके जीतने की संभावना अच्छी है। दिक्कत की बात सिर्ऱ इतनी है कि इस बार टीम ऋषभ पंत की कप्तानी में खेल रही है, जो पहली बार कप्तानी कर रहे हैं। ऐसे में अनुभव के मामले में दिल्ली कैपिटल्स की कप्तानी थोड़ी कमजोर दिख रही है। वैसे, दिल्ली के लिए अच्छी बात ये है कि उन्हें दुबई में खेलना है, क्योंकि ये वही मैदान है जहां उन्होंने इस सीज़न चेन्नई को हराया था।

क्यों भारी पड़ सकता है चेन्नई सुपर किंग्स?

चेन्नई को लगातार प्लेऑफ में खेलने का अनुभव है। महेंद्र सिंह धोनी (Mahendra Singh Dhoni) की कप्तानी वाली टीम 11वीं बार प्लेऑफ में पहुंची है। साथ ही उसने आठ बार फाइनल खेला है। प्लेऑफ में सबसे ज्यादा रन बनाने का रिकॉर्ड आईपीएल किंग के नाम से प्रख्यात सुरेश रैना के नाम है। उन्होंने 38 के औसत से 714 रन बनाए हैं। वैसे लीग चरण के आख़िरी तीन मैचों में उन्हें हार मिली है, और दिल्ली के ख़िलाफ़ वह दोनों मुक़ाबले हार चुकी है, लेकिन इसके बावजूद ये टीम बेहद ख़तरनाक है। चेन्नई सुपर किंग्स (CSK) का खेल पिछले कुछ मैचों से गिरता हुआ दिखाई दिया है। लेकिन बल्ले से इस टीम ने दूसरी किसी भी टीम की तुलना में ज़्यादा आक्रामकता दिखाई है, यही वजह है कि सबसे पहले चेन्नई ने ही प्लेऑफ़ के लिए क्वालिफ़ाई किया था।

जहां तक खिलाड़ियों की बात है, तो दोनों ही टीमों में ऐसे खिलाड़ी मौजूद हैं, जो किसी भी परिस्थिति में बेहतरीन खेल का प्रदर्शन कर सकते हैं और केवल अपने बलबूते टीम को जीत दिला सकते हैं। ऐसे में मैदान पर, उन परिस्थितियों में जहां कप्तान की सूझबूझ अंतर पैदा कर सकती है, चेन्नई सुपर किंग्स भारी पड़ सकती है। वैसे दोनों ही टीमों के पास हार के बावजूद आईपीएल के फाइनल में खेलने का एक मौका जरुर होगा।

Posted By:

  • Font Size
  • Close