मोहाली। मुंबई इंडियंस के सलामी बल्लेबाज लिंडल सिमंस के धुआंधार नाबाद शतक के सामने किंग्स इलेवन की सह मालकिन प्रीटी जिंटा के घरेलू मैदान पर टीम की सफलता की कामना के लिए हवन और ड्रेसिंग रूम में बदलाव के टोटके भी किसी काम नहीं आ सके।

बुधवार को मुंबई इंडियंस ने आइपीएल-7 में किंग्स इलेवन को उसके घर पर सात विकेट से करारी शिकस्त दी। सिमंस ने वर्तमान सत्र का पहला शतक ठोका। वेस्टइंडीज के इस बल्लेबाज ने 61 गेदों पर 14 चौकों और दो छक्कों की बदौलत 100 रन बनाए। उन्हें "मैन ऑफ द मैच" घोषित किया गया।

किंग्स के 157 रनों के लक्ष्य को मुंबई ने तीन विकेट पर 159 रन बनाकर छह गेंद शेष रहते हासिल कर लिया। कीरोन पोलार्ड (नाबाद 8) ने छक्के के साथ मैच का अंत किया। सिमंस और माइक हसी (6) के बीच सात ओवरों में 68 रनों की साझेदारी ने मुंबई को ठोस शुरुआत दिलाई। इनके अलावा कप्तान रोहित शर्मा ने 18 रनों का योगदान दिया। लक्ष्य का बचाव करते हुए किंग्स को अपने प्रमुख गेंदबाज मिशेल जॉनसन की खासी कमी खेली, जो कंधे में तकलीफ के कारण इस मैच में नहीं खेले।

इस जीत के साथ ही मुंबई इंडियंस ने प्लेऑफ में पहुंचने की अपनी उम्मीदें बरकरार रखी हैं। 12 मैचों में पांचवी जीत के साथ उसके 10 अंक हो गए हैं और वह बेहतर नेट रन रेट के आधार पर पांचवें स्थान पर आ गया है। किंग्स इलेवन इस सत्र की तीसरी हार के बावजूद शीर्ष पर बरकरार है।

इससे पहले मुंबई इंडियंस ने पंजाब को अच्छी शुरुआत के बावजूद 156 रन के स्कोर पर रोक दिया। मेजबान टीम वीरेंद्र सहवाग, मनन वोहरा और शॉन मार्श की तेज शुरुआत को बरकरार नहीं रख सकी। मुंबई के गेंदबाजों ने किंग्स को खुलकर खेलने ही नहीं दिया।

मुंबई के कप्तान रोहित शर्मा ने टॉस जीतकर पहले क्षेत्ररक्षण का फैसला किया। हालांकि शुरुआती कुछ ओवर में मानो ऐसा लगा कि उनका यह फैसला गलत साबित हो रहा है, लेकिन गेंदबाजों की धुनाई के बावजूद मुंबई ने संयम नहीं खोया। जिसका नतीजा यह रहा कि एक समय 180 के पार जाती दिख रही किंग्स इलेवन बड़ा स्कोर नहीं खड़ा कर सकी। एक समय किंग्स ने महज 43 रनों के भीतर चार विकेट गंवा दिए थे।

किंग्स के लिए कप्तान जार्ज बेली ने 30 गेंदों पर दो चौके और दो छक्कों की मदद से सबसे ज्यादा 39 रन बनाए। सहवाग (17) जोखिम भरा रन चुराने के प्रयास में रन आउट होकर चलते बने। इसके बाद मिलर की जगह टीम में शामिल किए गए शॉन मार्श (30) ने अपनी भूमिका के साथ न्याय किया।

उन्होंने मनन वोहरा के साथ दूसरे विकेट के लिए 43 गेंदों पर 64 रनों की तेज साझेदारी की। सांतोकी की गेंद पर पोलार्ड को कैच देने से पूर्व मार्श ने 17 गेदों की पारी में दो चौके और दो छक्केलगाए। इसके कुछ देर बाद मनन वोहरा (36) और ऑरेंज कैप के दावेदार ग्लेन मैक्सवेल (02) की भी जल्दी विदाई हो गई। मनन ने 34 गेंदों की अपनी पारी में चार चौके और एक छक्का लगाया। मुंबई के लिए जसप्रीत बुमराह और श्रेयस गोपाल ने दो-दो विकेट लिए।

Posted By:

नईदुनिया ई-पेपर पढ़ने के लिए यहाँ क्लिक करे

नईदुनिया ई-पेपर पढ़ने के लिए यहाँ क्लिक करे

डाउनलोड करें नईदुनिया ऐप | पाएं मध्यप्रदेश, छत्तीसगढ़ और देश-दुनिया की सभी खबरों के साथ नईदुनिया ई-पेपर,राशिफल और कई फायदेमंद सर्विसेस

डाउनलोड करें नईदुनिया ऐप | पाएं मध्यप्रदेश, छत्तीसगढ़ और देश-दुनिया की सभी खबरों के साथ नईदुनिया ई-पेपर,राशिफल और कई फायदेमंद सर्विसेस

जीतेगा भारत हारेगा कोरोना
जीतेगा भारत हारेगा कोरोना