नई दिल्ली। आईपीएल के लिए 19 दिसंबर को कोलकाता में होने वाली खिलाड़ियों की नीलामी में 971 क्रिकेटरों पर बोली लगेगी जिसमें 713 भारतीय और 258 विदेशी खिलाड़ी होंगे। इनमें से 215 खिलाड़ी ऐसे हैं जिन्होंने अंतरराष्ट्रीय मैच खेले हैं और 754 घरेलू क्रिकेटर जबकि एसोसिएट देशों के भी दो क्रिकेटर हैं। आईपीएल खिलाड़ियों के पंजीयन की प्रक्रिया 30 नवंबर को खत्म हो गई। अब फ्रेंचाइजी के पास अपने चुनिंदा खिलाड़ियों की सूची देने के लिए नौ दिसंबर तक का समय है जो खिलाड़ियों की अंतिम नीलामी में जाएंगे। अफगानिस्तान (19), ऑस्ट्रेलिया (55), बांग्लादेश (06), इंग्लैंड (22), नीदरलैंड्स (01), न्यूजीलैंड (24), दक्षिण अफ्रीका (54), श्रीलंका (39), अमेरिका (01), वेस्टइंडीज (34) और जिंबाब्वे (03) के खिलाड़ी नीलामी का हिस्सा होंगे।

भारतीय टीम से खेले खिलाड़ी - 19

घरेलू खिलाड़ी : 634

आईपीएल खेल चुके भारतीय : 60

अंतरराष्ट्रीय क्रिकेटर : 196

दूसरे देशों के घरेलू खिलाड़ी : 60

एसोसिएट टीमों के खिलाड़ी : 02

आईपीएल में चेन्नई की बादशाहत में धौनी का अहम योगदान : मांजरेकर

ब्यूरो भारतीय टीम के पूर्व खिलाड़ी और वर्तमान कमेंटेटर संजय मांजरेकर का मानना है कि आईपीएल में चेन्नई की बादशाहत के पीछे महेंद्र सिंह धौनी की कप्तानी का बहुत अहम रोल है। उनका मानना है कि पिछली बार की तरह इस बार भी विकेटकीपर बल्लेबाज धौनी चेन्नई के लिए आगामी सत्र में अच्छा करने वाले हैं। पिछले साल 2019 आईपीएल में चेन्नई सुपरकिंग्स उपविजेता रही थी जिसमें धौनी के बल्ले से 15 मैचों में 83.20 की औसत से 416 रन निकले थे। चेन्नई ने धौनी की कप्तानी में तीन बार खिताब जीता है। मांजेरकर ने कहा कि सीएसके में हमेशा वरिष्ठ खिलाड़ी होते हैं। उनके पास शीर्ष क्रम में फाफ डुप्लेसिस और शेन वॉटसन हैं। धौनी हमेशा से मौकों की तलाश में रहते हैं उन्हें गेम को खत्म करना अच्छे से आता है। इतना ही नहीं उनकी कप्तानी भी काफी अंतर पैदा करती है। ऐसे में अगर वो पिछले साल के प्रदर्शन को दोहराते हैं तो चेन्नई के लिए ये काफी अच्छा होगा।'

राजस्थान को फिर आईपीएल चैंपियन बनाना चाहते हैं मैक्डोनाल्ड नई दिल्ली। ऑस्ट्रेलिया के पूर्व ऑलराउंडर एंड्रयू बैरी मैक्डोनाल्ड को उम्मीद है कि उनके कोच रहते हुए राजस्थान रॉयल्स अपने अंदर की कमियों को खत्म करेगी और अंडरडॉक्स के तमगे को हटा इंडियन प्रीमियर लीग (आईपीएल) के आगामी सत्र में विजेता ट्रॉफी अपने नाम करेगी। राजस्थान ने 2008 में ऑस्ट्रेलिया के लेग स्पिनर शेन वार्न की कप्तानी में आईपीएल का पहला सत्र अपने नाम किया था। इसके बाद यह टीम उम्मीदों को मुताबिक प्रदर्शन नहीं कर पाई और सिर्फ तीन बार ही प्लेऑफ खेलने में सफल हो सकी है। मैक्डोनाल्ड ने कहा कि हम राजस्थान को मैच जिताने के लिए काम कर रहे हैं। राजस्थान की टीम 10 सत्र खेली है और उसने चार बार वह अंतिम चार में पहुंचने में सफल रही है। मैं टीम में सुधार करना चाहता हूं ताकि हम अंडरडॉग्स के तमगे से बाहर निकल खिताब के दावेदार के रूप में पहचाने जा सकें। फ्रेंचाइजी के पास स्टीव स्मिथ, बेन स्टोक्स, जोफ्रा आर्चर जैसे खिलाड़ी हैं लेकिन फिर भी टीम का प्रदर्शन अच्छा नहीं रहा है।

राजस्थान रॉयल्स का सत्र पूर्व शिविर शुरू नई दिल्ली। राजस्थान रॉयल्स के नए खिलाड़ी अंकित राजपूत और राहुल तेवतिया सहित इस फ्रेंचाइजी टीम के आठ क्रिकेटर अगले तीन दिन तक यहां तलेगांव में अभ्यास करेंगे। यह अगले साल होने वाले आईपीएल से पहले भारतीय क्रिकेटरों के लिए टीम का सत्र पूर्व अभ्यास शिविर है। आईपीएल के आगामी सत्र के लिए राजस्थान रॉयल्स की टीम से जुड़े भारतीय खिलाड़ी टीम के क्रिकेट प्रमुख जुबिन भरूचा की देखरेख में तीन दिन तक अभ्यास करेंगे। बल्लेबाजी कोच अमोल मजूमदार और गेंदबाजी कोच साईराज बहुतुले भी खिलाड़ियों की मदद करेंगे। शिविर में भाग लेने वाले भारतीय क्रिकेटरों में श्रेयस गोपाल, महिपाल लोमरोर, वरुण आरोन, शशांक सिंह, राहुल तेवतिया, मनन वोहरा, रियान पराग और अंकित राजपूत शामिल हैं।

Posted By: Yogendra Sharma