IPL 2021 Final : आईपीएल 2021 अब अपने समापन के करीब आ चुका है। शुक्रवार, 15 अक्टूबर को दुबई स्टेडियम में चेन्नई सुपरकिंग्स (Chennai Super Kings) और केकेआर (KKR) के बीच फाइनल मैच खेला जाएगा। CSK अबतक 3 बार आईपीएल का खिताब जीतने में सफल रही है तो वहीं दूसरी ओर KKR दो बार खिताब जीत चुका है। चैंपियनों के बीच होने वाले इस महामुक़ाबले के आंकड़े भी बेहद ही दिलचस्प हैं। इस मैच में ना सिर्फ दोनों टीमों की, बल्कि कई खिलाड़ियों के रिकॉर्ड भी दांव पर हैं। कप्तान माही इस मैच के साथ टी-20 के 300 मैचों में कप्तानी करनेवाले पहले कप्तान बन जाएंगे। बतौर कप्तान और खिलाड़ी, धोनी का ये आखिरी मैच भी हो सकता है।

वहीं ऋतुराज गायकवाड़ 23 रन बनाते ही इस सीजन में सबसे ज्यादा रन बनानेवाले खिलाड़ी बन जाएंगे। अभी वो सिर्फ केएल राहुल से पीछे हैं। दूसरी ओर, आईपीएल इतिहास के पहले 25 मैचों में सबसे ज़्यादा रन बनाने वाले भारतीय खिलाड़ी का खिताब पहले से ही उनके नाम हो चुका है। इससे पहले ये रिकॉर्ड सचिन के नाम था जिन्होंने 25 पारियों में 800 रन बनाए थे। ऋतुराज ने 21 पारियों में अब तक 807 रन बनाये हैं।

क्या कहते हैं दोनों टीमों के आंकड़े?

IPL के इतिहास में हुए 14 सीज़न्स में से ये सिर्फ़ तीसरा मौक़ा है जब KKR फ़ाइनल में पहुंची है। लेकिन जब भी ये फ़ाइनल में खेली है, तो जीत जरुर दर्ज की है। इससे पहले दोनों फाइनल मुकाबलों में KKR ने जीत दर्ज की। पहली बार 2012 में उन्होंने चेन्नई सुपर किंग्स को ही शिकस्त दी थी। इसके दो साल बाद यानी 2014 में भी KKR फिर फ़ाइनल में जगह बनाने में क़ामयाब रहा था। इस बार उन्होंने किंग्स-XI पंजाब को मात देकर चैंपियन का खिताब हासिल किया।

दूसरी तरफ CSK नौवीं बार आईपीएल के फ़ाइनल में पहुंच रही है। लेकिन इस दौरान फाइनल में उन्हें तीन बार ही ख़िताबी जीत मिली है, पांच बार उन्हें हार का सामना करना पड़ा है। आख़िरी बार चेन्नई 2019 में फ़ाइनल में पहुंची थी, जहां उन्हें मुंबई इंडियंस से एक रन से हार मिली थी। वहीं CSK 2018 में अंतिम बार चैंपियन रही थी, उन्होंने सनराइज़र्स हैदराबाद को आठ विकेट से हराया था।

इतिहास रचेंगे धोनी

CSK के कप्तान महेन्द्र सिंह धोनी के लिए यह मैच ऐतिहासिक होने जा रहा है। फ़ाइनल मुक़ाबले में सिक्का उछालते ही वह दुनिया के पहले ऐसे खिलाड़ी बन जाएंगे, जिन्होंने 300 टी20 मैचों में कप्तानी की हो। धोनी केकेआर के खिलाफ बतौर कप्तान टी-20 में अपना 300वां मैच खेलेंगे। धोनी ने अबतक 299 टी-20 मैचों में कप्तानी की है, जिसमें से 176 मैचों में जीत हासिल की है। इस फ़ेहरिस्त में दूसरे नंबर पर पूर्व कैरेबियाई कप्तान डैरन सैमी आते हैं, जिन्होंने 208 टी20 मैचों में कप्तानी की है। यह मुक़ाबला धोनी के फैन्स के लिए भी भावुक होगा, क्योंकि हो सकता है कि बतौर खिलाड़ी धोनी आखिरी बार मैदान में खेलते दिखें। धोनी ने खुद ही इस बात के संकेत दिये हैं कि अगले सीजन में वो मैदान पर उतरेंगे, ये जरुरी नहीं।

कप्तान के मामले में भारी पड़ती है CSK

धोनी की कप्तानी में CSK ने 3 बार आईपीएल का खिताब जीता है तो वहीं 2 बार चेन्नई टी-20 चैंपियंस लीग का खिताब जीत चुके हैं। धोनी के खाते में बतौर भारतीय कप्तान वर्ल्ड टी-20 का खिताब भी जीतने का रिकॉर्ड दर्ज है।उधर कोलकाता के कप्तान ओएन मॉर्गन बल्लेबाज के तौर पर बुरी तरह असफल रहे हैं। उन्होंने इस सीज़न 15 पारियों में 99 के स्ट्राइक रेट और 11.7 की साधारण औसत से ही रन बनाए हैं, जो आईपीएल इतिहास में एक सीज़न में किसी भी कप्तान की सबसे कम औसत है। वैसे कप्तान के तौर पर पिछले 9 में से 7 मैचों में उन्होंने टीम को जीत दिलाई है। लेकिन कप्तान धोनी की तुलना में वो बल्लेबाजी में भी कमजोर दिख रहे हैं और कप्तानी में भी।

कुल मिलाकर आईपीएल सीजन में ये फाइनल मैच ना सिर्फ रोमांचक, बल्कि कई मायनों में ऐतिहासिक हो सकता है।

Posted By: Shailendra Kumar