आज से IPL 2021 शुरु हो रहा है, जिसमें महीने भर तक करीब 60 मैच खेले जाएंगे। जिस तरह से कोरोना की दूसरी लहर फैल रही है, उसे देखते हुए कई लोगों ने इसके आयोजन पर आपत्ति उठाई है और खिलाड़ियों की सुरक्षा को लेकर सवाल उठाये हैं। लेकिन आयोजकों का कहना है कि इस बार कोरोना को लेकर व्यापक तैयारी की गई है और इस सुरक्षित तरीके से आयोजित करने के लिए पुख्ता इंतज़ाम किये गये हैं।

कैसे होगी खिलाड़ियों की कोरोना से सुरक्षा?

  • खिलाड़ियों को कोविड-19 टेस्ट और क्वारंटीन होने के बाद ही टीम में शामिल होने दिया जा रहा है।
  • टीम से जुड़े सभी लोगों को बायो बबल में रहना पड़ेगा। बायो-बबल यानी एक बार प्रवेश करने के बाद खिलाड़ियों को टीम के सदस्य और सपोर्ट स्टॉफ़ के अलावा किसी से मिलने नहीं दिया जाता।
  • टीम में रिज़र्व खिलाड़ियों और सपोर्ट स्टाफ़ को मिलाकर 50 से 60 लोग होते हैं। इन सभी के लिए यही नियम लागू हैं।
  • सभी कर्मचारियों को भी अलग-अलग बायो बबल मुहैया कराया गया है, ताकि वे खिलाड़ियों के सीधे संपर्क में नहीं आएं। ड्रेसिंग रूम में खिलाड़ियों के अलावा किसी के भी आने की अनुमति नहीं होगी।
  • साफ़ सफ़ाई कर्मचारियों को भी बायो बबल्स में रखा गया है। ये लोग पीपीई किट पहनकर अपना काम करेंगे और इनका नियमित टेस्ट होता रहेगा.
  • ज्यादातर टीमों के लिए पूरा का पूरा होटल बुक कर लिया गया है, ताकि कोरोना संक्रमण फैलने की कोई गुंजाइश ना रहे।
  • टीम के खिलाड़ी उनके लिए आरक्षित विशेष बस से अपने होटल से सीधे स्टेडियम जाएंगे और फिर उसी से वापस आएंगे। समय समय पर बस के ड्राइवरों का भी टेस्ट कराया जाता है।

IPL मैनेजमेंट ने क्या किये इंतज़ाम?

  • खिलाड़ियों की यात्रा कम करने के लिए इस सीज़न में मुंबई, चेन्नई, कोलकाता और बेंगलुरू में 10-10 मैच खेले जा रहे हैं। वहीं अहमदाबाद और दिल्ली में 8-8 मैच होंगे।
  • मुंबई में स्टेडियम के स्टाफ में कोरोना फैलने के बाद स्टेडियम में ही सभी कर्मचारियों के ठहरने और खाने का इंतज़ाम किया गया है। 25 अप्रैल तक किसी भी कर्मचारी को घर जाने की अनुमति नहीं होगी।
  • मैच के पहले और बाद में लोग जहाँ से भी गुजरेंगे वहाँ के हिस्से को सैनिटाइज़ किया जाएगा और आईपीएल के स्टॉफ सदस्यों का हर चार दिन पर टेस्ट कराया जाएगा।
  • तमिलनाडु क्रिकेट एसोसिएशन ने अपने सभी 80 कर्मचारियों को टीका दिलवाया है। टीका लेने के बाद भी सभी कर्मचारियों का प्रत्येक दस दिनों में टेस्ट होगा।
  • दिल्ली क्रिकेट एसोसिएशन ने आईपीएल स्टॉफ़ को दो सप्ताह पहले से ही बायो बबल में रख दिया है। कई कर्मचारियों को वैक्सीन की पहली डोज़ भी दे दी गई है।

यूं तो लगातार IPL से जुड़े खिलाड़ियों और स्टाफ कोरोना होने की खबरें मिल रही हैं, लेकिन इस आयोजन को रोकने की बात नहीं हो रही है। इसकी वजह ये है कि ये सिर्फ खेल या मनोरंजन नहीं है, बल्कि कई लोगों की रोजी-रोटी और कमाई का जरिया भी है। इसलिए मुश्किल हालात में भी इसे जारी रखने का फैसला किया गया है।

Posted By: Shailendra Kumar

नईदुनिया ई-पेपर पढ़ने के लिए यहाँ क्लिक करे

नईदुनिया ई-पेपर पढ़ने के लिए यहाँ क्लिक करे

डाउनलोड करें नईदुनिया ऐप | पाएं मध्यप्रदेश, छत्तीसगढ़ और देश-दुनिया की सभी खबरों के साथ नईदुनिया ई-पेपर,राशिफल और कई फायदेमंद सर्विसेस

डाउनलोड करें नईदुनिया ऐप | पाएं मध्यप्रदेश, छत्तीसगढ़ और देश-दुनिया की सभी खबरों के साथ नईदुनिया ई-पेपर,राशिफल और कई फायदेमंद सर्विसेस

 
Show More Tags