मुंबई (एजेंसियां)। भारत के पूर्व कप्तान कपिल देव मौजूदा भारतीय टीम के गेंदबाजी अटैक से काफी खुश हैं। कपिल ने शानदार प्रदर्शन के लिए गेंदबाजों की तारीफ करते हुए कहा कि इन गेंदबाजों ने बीते कुछ सालों में भारतीय क्रिकेट का रुख बदलकर रख दिया है।

कपिल से टीम के मौजूदा गेंदबाजी अटैक को लेकर सवाल किया गया। इस पर उन्होंने कहा - क्या मुझे ये कहने की जरुरत है कि मौजूदा भारतीय तेज आक्रमण दुनिया में सर्वश्रेष्ठ है। ऐसा तेज गेंदबाजी आक्रमण लंबे समय से केवल भारतीय क्रिकेट ही नहीं बल्कि दुनिया की किसी टीम में हमने नहीं देखा। इतने धारदार आक्रामण के बारे में कल्पनी भी नहीं की थी किसी ने। मैं केवल इतना कहना चाहूंगा कि बेशक पिछले चार-पांच सालों में हमारे तेज गेंदबाजों ने भारतीय क्रिकेट का रुख बदल कर रख दिया है। मैं उनके प्रदर्शन से बहुत खुश हूं।

बता दें कि वर्तमान में भारतीय तेज गेंदबाजों में जसप्रीत बुमराह, उमेश यादव, मोहम्मद शमी, ईशांत शर्मा, दीपक चाहर और नवदीप सैनी शामिल हैं। खास बात ये है कि मौका मिलने पर ये सभी गेंदबाज जबर्दस्त प्रदर्शन कर रहे हैं। बुमराह ने वेस्टइंडीज में जबर्दस्त प्रदर्शन किया, लेकिन दक्षिण अफ्रीका के खिलाफ मौजूदा टेस्ट सीरीज में वे चोट के कारण नहीं खेल पाए। उनकी गैरमौजूदगी में मोहम्मद शमी ने मोर्चा संभाला और विशाखापट्टनम टेस्ट में धूम मचाई।

कपिल ने शमी के प्रदर्शन को लेकर हुए सवाल पर कहा- इससे कोई फर्क नहीं पड़ता कि उनकी रैंकिंग क्या है, वे टॉप 10 में शामिल है या नहीं। जरुरी ये है कि वे टीम के लिए कैसा प्रदर्शन कर रहे हैं। मुझे लगता है कि वे शानदार प्रदर्शन कर रहे हैं और टीम की जीत में अहम भूमिका भी निभा रहे हैं।

कपिल ने खुशी जाहिर की कि आज भारत से विश्व स्तरीय तेज गेंदबाज निकल रहे हैं। उन्होंने कहा- तेज गेंदबाजी आक्रमण तैयार होने में समय लगता है। लेकिन मैं खुश हूं कि आज हमारे यहां कई जबर्दस्त गेंदबाज आ रहे हैं और उनकी संख्या भी काफी है।

केवल बैठक में शामिल होना हितों का टकराव नहीं हो सकता - कपिल

हितों के टकराव के मामले में उलझने के बाद कपिल ने क्रिकेट सलाहकार समिति (सीएसी) से इस्तीफा दे दिया था।इस बारे में पूछे जाने पर उन्होंने कहा - हितों का टकराव तब होता है जब आप नियमित रुप से काम करते हैं। यदि आपको केवल एक बैठक के लिए बुलाया गया है तो मेरे ख्याल से वो हितों का टकराव नहीं है। अगर आप पे रोल (नियमित वेतन) पर हैं तो ये टकराव है। अगर आप किसी मानद काम के लिए जाते हैं तो वो इस श्रेणी में नहीं आता। बता दें कि कपिल की अगुआई में क्रिकेट सलाहकार समिति ने भारतीय टीम के मौजूदा कोच रवि शास्त्री का चयन किया था। बीसीसीआई के नैतिक अधिकारी डीके जैन ने सीएसी (कपिल देव, अंशुमन गायकवाड़ और शांता रंगास्वामी) को नोटिस भेजकर उनके खिलाफ लगे हितों के टकराव के आरोपों का जवाब देने को कहा था। इसकी शिकायत मध्यप्रदेश क्रिकेट संघ के आजीवन सदस्य संजीव गुप्ता ने की थी। इस समिति ने अगस्त में मुख्य कोच के पद पर शास्त्री का चयन किया था।

Posted By: Rahul Vavikar

fantasy cricket
fantasy cricket