भारतीय कप्तान विराट कोहली की मुसीबतें अब बढ़ने वाली हैं क्योंकि मध्य प्रदेश क्रिकेट संघ के आजीवन सदस्य संजीव गुप्ता ने उन पर हितों के टकराव के आरोप लगाए हैं। संजीव गुप्ता ने बीसीसीआइ के लोकपाल डीके जैन को पत्र लिखकर यह शिकायत भेजी है कि कोहली ने लोढ़ा समिति की सिफारिशों का उल्लंघन किया है।

इस ईमेल में यह कहा गया है कि विराट एक साथ दो पद पर हैं और यहां हितों का टकराव हो रहा है। एक तरफ वह भारतीय टीम के खिलाड़ी और कप्तान हैं और साथ ही साथ वह एक स्पोर्ट्स मार्केटिंग कंपनी में भी निदेशक के पद पर हैं जो भारतीय टीम के ही कुछ खिलाड़ियों के व्यावसायिक हितों का प्रबंधन करती है। बीसीसीआइ के नियमों के मुताबिक शिकायतकर्ता संजीव गुप्ता ने आगे आरोप लगाया और कहा कि यह बीसीसीआइ के नियम 38 (4) का उल्लंघन है। ईमेल में लिखा गया है कि ये बीसीसीआइ के नियमों के खिलाफ है और इसलिए उन्हें कह दिया जाए कि वह एक पद से खुद को हटा लें। या तो कप्तानी चुनें या निदेशक बने रहें।

गुप्ता ने दावा किया कि कोहली कॉर्नरस्टोन वेंचर पार्टनर्स एलएलपी और विराट कोहली स्पोर्ट्स एलएलपी में निदेशक है। इस कंपनी में अमित अरुण सजदेह (बंटी सजदेह) और बिनॉय भरत खिमजी भी सह-निदेशक है। ये दोनों कॉर्नरस्टोनस्पोर्ट्स एंड एंटरटेनमेंट प्राइवेट लिमिटेड का हिस्सा है। कॉर्नरस्टोन स्पोट््‌र्स एंड एंटरटेनमेंट प्राइवेट लिमिटेड में कोहली की भूमिका नहीं है। यह कंपनी भारतीय कप्तान के अलावा केएल राहुल, रिषभ पंत, रवींद्र जडेजा, उमेश यादव और कुलदीप यादव सहित कई अन्य खिलाड़ियों के व्यावसायिक हितों का प्रबंधन करती है।

राहुल द्रविड़, सौरव गांगुली, वीवीएस लक्ष्मण और कपिल देव के खिलाफ हुई थी शिकायत

BCCI के लोकपाल डीके जैन ने रविवार को कहा कि वह विराट कोहली के खिलाफ मध्य प्रदेश क्रिकेट संघ के आजीवन सदस्य संजीव गुप्ता द्वारा दायर हितों के टकराव की शिकायत की जांच करेंगे। अपने पहले कार्यकाल के दौरान जैन ने भारतीय क्रिकेट के महान बल्लेबाजों राहुल द्रविड़, सौरव गांगुली, वीवीएस लक्ष्मण और कपिल देव के खिलाफ हितों की शिकायतों का निपटारा किया था। ये सभी शिकायतें गुप्ता ने की थी जिसके बाद इन दिग्गज खिलाड़ियों को एक पद से इस्तीफा देना पड़ा था। बाद में इन शिकायतों को खारिज कर दिया गया था।

BCCI ने कहा, ब्लैकमेल करने की कोशिश

BCCI के एक अधिकारी ने संजीव गुप्ता द्वारा लगाए गए आरोप को लेकर कहा कि उनका पैटर्न एक है और यह उथल-पुथल मचाने और उन लोगों को ब्लैकमेल करने की कोशिश है जिन्होंने देश के लिए काफी कुछ किया है। आप ईमेल और उसकी भाषा को देख लीजिए, मंशा साफ पता चल रही है कि यह सफल लोगों के दामन पर दाग लगाने की कोशिश है। इसके पीछे कोई न कोई प्रेरणा है।"

Posted By:

नईदुनिया ई-पेपर पढ़ने के लिए यहाँ क्लिक करे

नईदुनिया ई-पेपर पढ़ने के लिए यहाँ क्लिक करे

डाउनलोड करें नईदुनिया ऐप | पाएं मध्यप्रदेश, छत्तीसगढ़ और देश-दुनिया की सभी खबरों के साथ नईदुनिया ई-पेपर,राशिफल और कई फायदेमंद सर्विसेस

डाउनलोड करें नईदुनिया ऐप | पाएं मध्यप्रदेश, छत्तीसगढ़ और देश-दुनिया की सभी खबरों के साथ नईदुनिया ई-पेपर,राशिफल और कई फायदेमंद सर्विसेस

Ram Mandir Bhumi Pujan
Ram Mandir Bhumi Pujan