नई दिल्ली। भारतीय ओपनर शिखर धवन ने कहा कि महेंद्रसिंह धोनी कई महत्वपूर्ण फैसले ले चुके हैं, इसलिए इंटरनेशनल करियर से संन्यास कब लेना है यह उनका विशेषाधिकार होना चाहिए।

33 वर्षीय धवन ने धोनी की कप्तानी में ही इंटरनेशनल डेब्यू किया था। धवन ने रजत शर्मा द्वारा आयोजित आप की अदालत कार्यक्रम में कहा, धोनी लंबे समय से इंटरनेशनल क्रिकेट खेल रहे हैं। मेरा मानना है कि उन्हें पता हैं कि उन्हें कब रिटायर होना चाहिए। यह उनका फैसला ही होना चाहिए। उन्होंने अभी तक करियर में भारत के लिए कई महत्वपूर्ण फैसले लिए हैं और मुझे विश्वास है कि वे समय आने पर इस बारे में भी निर्णय लेंगे।

उन्होंने कहा, यदि हर खिलाड़ी की क्षमता का आकलन करना हो तो इस मामले में धोनी की कोई जोड़ नहीं है। यह एक बड़े नेता की पहचान होती है। उन्हें पता है कि उन्हें कब तक किसी खिलाड़ी का समर्थन करना है। किसी खिलाड़ी को चैंपियन कैसे बनाना यह उन्हें अच्छी तरह आता है। उनके नेतृत्व में टीम इंडिया द्वारा हासिल की गई सफलता इस बात को दर्शाती है। संयम और नियंत्रण उनकी विशेषता है।

धवन ने धोनी और विराट की बॉन्डिंग के बारे में बताया। उन्होंने कहा, जब विराट युवा थे तो धोनी ने उन्हें अच्छा मार्गदर्शन दिया था। जब विराट कप्तान बने तब भी धोनी भाई उनकी मदद के लिए हमेशा मौजूद रहे। यह एक लीडर की विशेषता होती है। विराट उनके प्रति सम्मान जताते हैं यह अच्छी बात है। धवन ने खराब दौर से गुजर रहे पंत को भी सपोर्ट किया।। उन्होंने कहा, रिषभ प्रतिभाशाली खिलाड़ी है और मुझे विश्वास है कि उनके सामने लंबा करियर है। वे जमकर प्रयास कर रहे हैं। ऐसी परिस्थितियां भी आती है जब आप स्कोर नहीं कर पाते हो, लेकिन इससे आपको सीखने को मिलता है। ऐसा हर खिलाड़ी के साथ होता है। पंत अच्छे खिलाड़ी है और टीम को उन्हें सपोर्ट करना चाहिए। मैं भी अपने करियर में खराब दौर से गुजरा हूं और अभी भी खराब समय आता है। यह खेल का हिस्सा है।

Posted By: Kiran Waikar