रांची। MS Dhoni in temple: भारतीय टीम के पूर्व कप्तान MS Dhoni टीम इंडिया में दिखेंगे या नहीं.. इस सवाल का जवाब तो भविष्य में पता चलेगा। खुद MS Dhoni भी अपनी वापसी और भविष्य को लेकर खुलासा नहीं कर रहे। फिलहाल वे रांची में झारखंड टीम के साथ अभ्यास कर रहे हैं। पर सोमवार को MS Dhoni तमाड़ स्थित दिउड़ी मंदिर में पूजा करने पहुंचे। इस मंदिर पर धोनी की बहुत अधिक आस्था है।

बता दें कि महेंद्र सिंह धोनी इन दिनों रांची में ही हैं और अपने राज्य की टीम के साथ अभ्यास कर रहे हैं। सोमवार को धोनी खुद कार चलाते हुए रांची से तमाड़ पहुंचे और दिउड़ी मंदिर में मां कालका के दर्शन किए। यहां उन्होंने विशेष पूजा की और आशीर्वाद लिया। गौरतलब है कि धोनी यहां हमेशा अपनी हमर गाड़ी से आते हैं, लेकिन इस बार वे मर्सिडिज कार चलाते हुए यहां पहुंचे। मंदिर में जैसे ही लोगों ने उन्हें देखा तो सेल्फी लेने वालों की भीड़ लग गई।

हर बात आते हैं यहां

बता दें कि धोनी जब भी किसी महत्वपूर्ण स्पर्धा, सीरीज या दौरे के लिए घर से निकलते हैं तो यहां दर्शन जरुर करते हैं। 1998 में जब धोनी रणजी में खेला करते थे तब से वे इस मंदिर में दर्शन करने के लिए आते हैं। हर सीरीज से पहले वे काली मां का आशीर्वाद लेने यहां आते हैं। वे रांची में जब भी रहते हैं तो यहां दर्शन के लिए जरुरत आते हैं। इस बार बताया जा रहा है कि धोनी ने आईपीएल के लिए अभ्यास शुरू किया है। इसके चलते ही धोनी यहां मां काली के दर्शन करने आए। गौरतलब है कि आईपीएल में धोनी के प्रदर्शन के आधार पर ही उनका टी20 वर्ल्ड कप के लिए दावा देखा जाएगा।

सिर मुंडाया था धोनी ने

बता दें कि टीम इंडिया के कप्तान रहते धोनी 2011 वर्ल्ड कप से पहले पूजा करने आए थे। उन्होंने यहां करीब एक घंटे तक विशेष पूजा की थी। उस समय टीम ने वर्ल्ड कप टूर्नामेंट जीता था। वर्ल्ड कप खेलने से पहले उन्होंने मन्नत मांगी थी कि कप जीतने पर वे अपना सिर मुंडवा लेंगे। विजेता बनने के बाद धोनी ने सिर भी मुंडाया था। फाइनल मैच के दिन इस मंदिर में पुजारियों ने उनके आग्रह पर पूरे दिन विशेष पूजा और हवन किया था।

ये है मंदिर का इतिहास

मंदिर में करीब साढ़े तीन फुट ऊंची देवी 16 भुजाओं वाली देवी प्रतिमा हैं। ओडिसा मूर्ति शैली की ये प्रतिमा काले पत्थर से बनी हुई है। इस मंदिर की स्थापना 1300 ई में सिंहभूम के मुंडा राजा केरा ने की थी। राजा युद्ध में परास्त हुए थे। देवी ने उन्हें सपने में दर्शन देकर मंदिर स्थापित करने का आदेश दिया और उनके आशीर्वाद से राजा ने दोबारा अपना राज्य हासिल किया था।

अभ्यास शुरू किया

धोनी ने आईपीएल के लिए रांची के जेएससीए स्टेडियम में अभ्यास शुरू कर दिया है। वे नियमित तौर पर स्टेडियम पहुंचकर झारखंड रणजी टीम के साथ बल्लेबाजी का अभ्यास कर रहे हैं। पिछले दिनों झारखंड रणजी टीम के कोच राजीव कुमार ने कहा था कि धोनी पुराने अंदाज में ही नजर आ रहे थे। उन्‍हें देखकर बिल्कुल ऐसा नहीं लगा कि वे बहुत दिनों बाद बल्लेबाजी कर रहे हैं। बता दें कि धोनी जुलाई 2019 में इंग्लैंड में हुए वर्ल्ड कप के सेमीफाइनल मुकाबले के बाद नहीं खेले हैं। न्‍यूजीलैंड के हाथों सेमीफाइनल में मिली हार के बाद धोनी मैदान से दूर हैं।

BCCI ने कॉन्ट्रैक्ट से किया बाहर

धोनी पिछले 6 महीनों से कोई क्रिकेट नहीं खेले हैं। इसके चलते BCCI ने उन्हें अपने सालाना कॉन्ट्रैक्ट से बाहर कर दिया है। पिछले साल धोनी कॉन्ट्रैक्ट के ग्रेड A में थे। इसके तहत उन्हें सालाना 5 करोड़ रुपए मिलते थे। लेकिन इस बार BCCI ने उन्हें किसी भी ग्रेड में जगह नहीं दी।

Posted By: Rahul Vavikar

fantasy cricket
fantasy cricket