मुंबई। मेघालय के अभय नेगी ने रविवार को सैयद मुश्ताक अली ट्रॉफी टी20 टूर्नामेंट में मिजोरम के खिलाफ मैच में इतिहास रच दिया। नेगी ने इस टू्र्नामेंट के इतिहास की सबसे तेज फिफ्टी बनाई। उन्होंने सिर्फ 14 गेंदों में अर्द्धशतक बनाया और उनकी इस तूफानी बल्लेबाजी की वजह युवराज सिंह का टी20 क्रिकेट में सबसे तेज फिफ्टी का रिकॉर्ड टूटते-टूटते बचा। नेगी ने वानखेड़े स्टेडियम में विस्फोटक बल्लेबाजी की। उन्होंने 14 गेंदों में 2 चौकों और 6 छक्कों की मदद से अर्द्धशतक पूरा किया। यह इस टूर्नामेंट के इतिहास का सबसे तेज अर्द्धशतक है, उन्होंने इस मामले में रॉबिन उथप्पा का रिकॉर्ड तोड़ा। टी20 क्रिकेट में सबसे तेज फिफ्टी की वर्ल्ड रिकॉर्ड युवराज सिंह के नाम पर दर्ज है जिन्होंने 2007 टी20 वर्ल्ड कप में भारत की तरफ से इंग्लैंड के खिलाफ मात्र 12 गेंदों में अर्द्धशतक जड़ा था।

मेघालय ने 4 विकेट पर 207 रन बनाए। नेगी ने रवि तेजा (53 नाबाद) के साथ आतिशी बल्लेबाजी की और दोनों ने पांचवें विकेट के लिए 88 रन जोड़े। नेगी ने अंतिम ओवर में लगातार चार छक्के लगाए और इस ओवर में 31 रन बनाए। उन्होंने इसी दौरान अर्द्धशतक पूरा किया। उत्तराखंड में जन्मे 27 वर्षीय नेगी ने पिछले वर्ष जनवरी में शिलांग में अरुणाचल प्रदेश के खिलाफ फर्स्ट क्लास डेब्यू किया था। वे इस मैच से पहले 8 फर्स्ट क्लास मैच खेल चुके थे। इससे पहले उनका सर्वाधिक स्कोर 38 रन था।

नेगी टी20 क्रिकेट में भारतीय बल्लेबाज द्वारा सबसे तेज फिफ्टी के मामले में अब संयुक्त रूप से दूसरे क्रम पर पहुंच गए हैं। उन्होंने केएल राहुल की बराबरी की जिन्होंने 8 अप्रैल 2018 को मोहाली में आईपीएल मुकाबले में किंग्स इलेवन पंजाब की तरफ से दिल्ली डेयरडेविल्स के खिलाफ 14 गेंदों में अर्द्धशतक लगाया था।

Posted By: Arvind Dubey

नईदुनिया ई-पेपर पढ़ने के लिए यहाँ क्लिक करे

नईदुनिया ई-पेपर पढ़ने के लिए यहाँ क्लिक करे

डाउनलोड करें नईदुनिया ऐप | पाएं मध्यप्रदेश, छत्तीसगढ़ और देश-दुनिया की सभी खबरों के साथ नईदुनिया ई-पेपर,राशिफल और कई फायदेमंद सर्विसेस

डाउनलोड करें नईदुनिया ऐप | पाएं मध्यप्रदेश, छत्तीसगढ़ और देश-दुनिया की सभी खबरों के साथ नईदुनिया ई-पेपर,राशिफल और कई फायदेमंद सर्विसेस

Raksha Bandhan 2020
Raksha Bandhan 2020