नई दिल्ली। नेशनल एंटी डोपिंग एजेंसी (NADA) बेंगलुरु में होने वाले दुलीप ट्रॉफी से भारतीय क्रिकेटरों की डोप टेस्ट की शुरुआत करेगा। बीसीसीआई ने नाडा के सामने यह शर्त रखी थी कि लीड डोप कंट्रोल ऑफिसर्स (LDCO) डॉक्टर्स ही होने चाहिए जिसे स्वीकार कर लिया गया।

बीसीसीआई हाल ही में नाडा के दायरे में आया है। बीसीसीआई के क्रिकेट ऑपरेशंस (महाप्रबंधक) सबा करीम और एंटी डोपिंग यूनिट प्रमुख डॉ. अभिजीत साल्वी ने NADA के महानिदेशक नवीन अग्रवाल से मुलाकात कर इसका रोड मैच तैयार किया। नाडा ने इस बैठक के बाद कहा कि इस साझेदारी की शुरुआत दुलीप ट्रॉफी के दौरान क्रिकेटरों के डोप टेस्ट के साथ होगी। इस टूर्नामेंट में इंडिया ब्ल्यू और इंडिया ग्रीन के बीच निर्धारित ओपनिंग मैच में किसी भी खिलाड़ी का डोप टेस्ट नहीं होगा लेकिन 23 अगस्त से होने वाले अगले मैच में कई खिलाड़ियों के टेस्ट संभावित है। बीसीसीआई ने NADA को अपने घरेलू टूर्नामेंट्स का पूरा कैलेंडर सौंपा जिससे वो क्रिकेटरों के डोप टेस्ट का कार्यक्रम तय कर सके।

साल्वी ने कहा, दुलीप ट्रॉफी शुरू हो चुकी है और NADA संभवत: बाद के मैचों के दौरान क्रिकेटरों के टेस्ट करेगा। अभी यह नहीं बताया गया है कि टारगेट टेस्टिंग होगी या औचक परिक्षण होगा। ऐसा लगता है कि अभी मैच के दिनों में टेस्ट होंगे।