क्राइस्टचर्च। बांग्लादेशी क्रिकेट टीम के प्रदर्शन विश्लेषक भारत के श्रीनिवासन चंद्रशेखरन ने कहा कि हेगले ओवल ग्राउंड के करीब मस्जिद में आतंकी हमले के समय कुछ बांग्लादेशी खिलाड़ी एक घायल महिला की मदद करना चाहते थे।

बांग्लादेशी टीम न्यूजीलैंड के खिलाफ तीसरे टेस्ट की पूर्वसंध्या पर शुक्रवार की नमाज अदाकर प्रैक्टिस के लिए जाने वाली थी। बांग्लादेशी टीम के प्रदर्शन विश्लेषक भारत के श्रीनिवासन चंद्रशेखरन ने कहा कि टीम की बस मस्जिद के पास पहुंची ही थी कि गोलियां चलने की आवाज सुनाई दी इसके कुछ क्षणों बाद एक महिला बाहर की तरफ आकर गिरी। कुछ बांग्लादेशी खिलाड़ी इस महिला की मदद करना चाहते थे लेकिन तभी उन्होंने कुछ लोगों को खून से लथपथ होकर मस्जिद से बाहर की तरफ आते देखा। उन्होंने कहा, हम शुरू में कोई प्रतिक्रिया नहीं दे पाए क्योंकि स्थिति इतनी डरावनी थी कि दिमाग ने काम करना बंद कर दिया था। हम सभी के साथ ऐसा हुआ था। शुरू में हमें नहीं लगा था कि यह आतंकी हमला है।

इस गोलीबारी में 50 लोग मारे गए जबकि 48 लोग घायल है। आतंकी हेड गियर में कैमरा लगाकर आया था जिससे उसने इस घटना की लाइव स्ट्रीमिंग की।

चंद्रशेखरन ने कहा, शुरू में हमने गोलियों की आवाज सुनी और फिर उस महिला को गिरते देखा तो कुछ खिलाड़ी उसकी मदद के लिए जाना चाहते थे क्योंकि हमें लगा कि उसे मदद की दरकार है। लेकिन जब हमने खून से लथपथ लोगों को दौड़ते हुए देखा तो समझ में आया कि मामला बहुत गंभीर है। हमें तुरंत बस की जमीन पर लेटने को कहा गया। हमने सभी ने वैसा ही किया, हमें नहीं मालूम हम कितनी देर तक वैसे ही लेटे रहे। इसके कुछ देर बाद पुलिस पहुंची और हमें पिछले दरवाजे से बाहर निकालकर मैदान ले जाया गया।

श्रीनिवासन इससे पहले आईपीएल फ्रेंचाइजी सनराइजर्स हैदराबाद के साथ थे लेकिन वे 2018 में बांग्लादेशी टीम के साथ जुड़े। उन्होंने तुरंत कार्रवाई के लिए बांग्लादेश क्रिकेट बोर्ड (बीसीबी) और न्यूजीलैंड क्रिकेट (एनजेडसी) का शुक्रिया अदा किया। बांग्लादेशी क्रिकेट टीम के खिलाड़ी बांग्लादेश रवाना होंगे जबकि श्रीनिवासन भारत के लिए रिटर्न टिकट का इंतजार कर रहे हैं।

Posted By: