मेलबर्न (एजेंसियां)। खेलों में लगातार नई-नई तकनीकें अपनाई जा रही है ताकि खेल की बारिकियां सामने आ सके। इसी कड़ी में अब क्रिकेट में भी स्मार्ट बॉल के उपयोग की तैयारी है। इसके तहत माइक्रोचिप लगी गेंद का इस्तेमाल किया जाएगा।

बता दें कि बीते सालों में क्रिकेट में तकनीक का जबर्दस्त उपयोग हुआ है। गलतियां दूर करने के लिए और खेल में परफेक्शन लाने के लिए लगातार नई तकनीकें अपनाई गई है। थर्ड अंपायर के उपयोग से लेकर रन आउट, अंपायर रिविव्यू डिसिज़न, हॉकआई से लेकर तमाम अन्य तकनीकें अपनाई जा रही है। हाल फिलहाल में सेंसर लगे बल्ले का उपयोग खिलाड़ियों ने शुरू किया। अब माइक्रोचिप लगी गेंद की बारी है।

स्मार्ट बॉल की खासियत

मीडिया रिपोर्ट्स के मुताबिक इस स्मार्ट बॉल का उपयोग पहली बार ऑस्ट्रेलिया की मशहूर बिग बैश लीग में किया जाएगा। गेंद बनाने वाली ऑस्ट्रेलियाई कंपनी कूकाबुरा के अनुसार इस स्मार्ट बॉल में कई खूबियां हैं। कंपनी ने बताया कि इस स्मार्ट बॉल में माइक्रोचिप लगी होने से इससे रियल टाइम डेटा मिलेगा। ये गेंद ट्रैकर से लैस होगी जो फेंकते ही कई तरह का डेटा इकट्ठा करेगी। इसमें रिलीज पॉइंट पर स्पीड मैट्रिक्स, प्री बाउंस और पोस्ट बाउंस, स्पीड सहित अन्य फीचर्स का डेटा कलेक्ट किया जा सकेगा। इसके अलावा डीआरएस के दौरान अंपायरों को बैट कट होने या ना होने की सटीक जानकारी भी तुरंत मिलेगी। ये भी बता दें कि माइक्रोचिप होने के बावजूद बॉल के शेप में किसी तरह का बदलाय या भारीपन नहीं होगा। ये पूरी तरह कूकाबुरा की पुरानी गेंद जैसी ही होगी और उसी की तरह मूव भी करेगी।

दरअसल तमाम तरह की तकनीकों का उपयोग खेल को बेहतर, एरर फ्री और अधिक फेयर बनाने के लिए किया जा रहा है। फिलहाल कंपनी इसे ऑस्ट्रेलियाई टी-20 बिग बैश लीग में इसके उपयोग की योजना बना रही है। इस लीग में यदि प्रयोग सफल रहता है तो फिर इसे विश्व स्तर पर लाया जाएगा।