वड़ोदरा। Prithvi Shaw Smashes Double Century: भारतीय टीम के लिए खेल चुके पृथ्वी शॉ ने बुधवार को शानदार प्रदर्शन करते हुए बड़ौदा के खिलाफ रणजी ट्रॉफी मुकाबले में मुंबई की तरफ से तूफानी दोहरा शतक (202) जड़ा। यह पृथ्वी शॉ के फर्स्ट क्लास करियर का पहला दोहरा शतक है और उन्होंने इसके जरिए न्यूजीलैंड के खिलाफ टेस्ट सीरीज के लिए भारतीय टीम में अपना दावा मजबूती से पेश किया।

पृथ्वी ने मुंबई की तरफ से दूसरी पारी में विस्फोटक बल्लेबाजी की। उन्होंने 175 गेंदों में दोहरा शतक लगाया। वे 179 गेंदों में 19 चौकों और 7 छक्कों की मदद से 202 रन बनाए। वे भार्गव भट्ट की गेंद पर विष्णु सोलंकी को कैच थमा बैठे। उन्होंने मुंबई की पहली पारी में भी अर्द्धशतक जड़ा था। उन्होंने 62 गेंदों में 11 चौकों और 1 छक्के की मदद से 66 रन बनाए।

20 साल के पृथ्वी ने अक्टूबर 2018 में राजकोट में वेस्टइंडीज के खिलाफ टेस्ट डेब्यू किया था। उन्होंने 2 टेस्ट मैचों में 118.50 की औसत से 237 रन बनाए थे। उन्होंने इस दौरान 1 शतक और 1 अर्द्धशतक लगाया था। वे चोट के कारण ऑस्ट्रेलिया दौरे में नहीं खेल पाए थे, इसके बाद वे प्रतिबंधित पदार्थ के सेवन की वजह से प्रतिबंधित किए गए थे। वापसी के बाद यह उनका पहला फर्स्ट क्लास मैच है। अब उन्होंने धमाकेदार वापसी कर दिखा दिया कि वे न्यूजीलैंड दौरे के लिए पूरी तरह तैयार हैं। उन्हें तीसरे ओपनर के रूप में इस दौरे के लिए टीम में चुने जाने की संभावना है।

उन्होंने इससे पहले सैयद मुश्ताक अली टी20 टूर्नामेंट में भी तीन अर्द्धशतक जड़े थे। उन्होंने असम के खिलाफ 63, झारखंड के खिलाफ 64 और पंजाब के खिलाफ 53 रनों की पारियां खेली थी।

Posted By: Kiran Waikar

fantasy cricket
fantasy cricket