RCB Virat Kohli: कप्तान के रूप में विराट कोहली अपनी आईपीएल टीम आरसीबी को ट्रॉफी नहीं दिला पाए। आरसीबी को सोमवार को शारजाह में आईपीएल के एलिमिनेटर मैच में कोलकाता नाइट राइडर्स (केकेआर) के हाथों 4 विकेट से हार का सामना करना पड़ा। इस हार के बाद Virat Kohli ने कहा, अब अगले तीन साल के लिए नए सिरे से टीम बनाने का समय है। मैं आरसीबी के लिए ही खेलूंगा। मेरे लिए वफादारी बहुत मायने रखती है और इस टीम के साथ मेरा जुड़ाव आईपीएल में मेरे आखिरी दिन तक रहेगा। बता दें, आईपीएल 2021 के इस चरण की शुरुआत में ही विराट कोहली ने कप्तानी छोड़ने का ऐलान कर दिया था। Virat Kohli ने साल 2011 में पहली बार आरसीबी की कप्तानी संभाली थी। इतना ही नहीं कोहली आईपीएल के पहले सीजन यानी 2008 से आरसीबी का हिस्सा हैं और इन 14 सालों में आरसीबी ने कभी आईपीएल ट्रॉफी नहीं जीती है।

आगे क्या होगा

Virat Kohli ने यह भी कहा कि वह कप्तानी छोड़ने के बाद भी आरसीबी के लिए खेलना जारी रखना चाहते हैं और अगर ऐसा होता है तो इसका मतलब यह होगा कि Virat Kohli फिर कभी आईपीएल में कप्तानी करते नहीं दिखेंगे।

RCB Virat Kohli: विराट कोहली की कप्तानी में आरसीबी का प्रदर्शन

RCB Vs KKR: जानिए मैच का हाल

अच्छी शुरुआत के बावजूद आरसीबी 20 ओवर में सात विकेट पर 138 रन ही बना सकी। उन्हें सबसे ज्यादा नुकसान अनुभवी स्पिनर सुनील नरेन ने किया, जिन्होंने चार ओवर में 21 रन देकर चार विकेट चटकाए. जवाब में केकेआर ने 19.4 ओवर में छह विकेट पर 139 रन बनाकर मैच जीत लिया। केकेआर का सामना अब बुधवार को शारजाह में दूसरे क्वालीफायर में दिल्ली कैपिटल्स से होगा। इस मैच को जीतने वाली टीम शुक्रवार को दुबई में चेन्नई सुपर किंग्स से भिड़ेगी, जिसने फाइनल में पहुंचने के लिए पहले क्वालीफायर में दिल्ली को हराया था।

आसान लक्ष्य का पीछा करते हुए केकेआर के लिए किसी भी बल्लेबाज ने बड़ी पारी नहीं खेली, लेकिन शुभमन गिल (29), वेंकटेश अय्यर (26) और सुनील नरेन (26) ने 25 से ज्यादा रन बनाए, जबकि नीतीश राणा ने 23 रन बनाए. आरसीबी की ओर से मोहम्मद सिराज, हर्षल पटेल और युजवेंद्र सिंह चहल ने दो-दो विकेट लिए।

10वें ओवर की चौथी गेंद पर शाहबाज अहमद ने वेंकटेश का फाइन लेग पर आसान कैच छोड़ा. गेंदबाज थे ग्लेन मैक्सवेल। इसके बाद 17वें ओवर की पहली गेंद पर देवदत्त पडिक्कल ने नरेन का कैच छोड़ा। इस बार गेंदबाज हर्षल पटेल थे और उन्हें बदकिस्मत कहा जाएगा, क्योंकि अगर उन्हें यह विकेट मिलता तो वह ड्वेन ब्रावो के एक आईपीएल में 32 विकेट लेने के रिकॉर्ड को तोड़ देते। वर्तमान में वह उसके बराबर है।

इससे पहले आरसीबी एक समय नौ ओवर में एक विकेट पर 66 रन बनाकर अच्छी स्थिति में थी। नरेन ने तब दबदबा बनाया और श्रीकर भारत (9), कप्तान कोहली (39), एबी डिविलियर्स (11) और मैक्सवेल (15) के विकेट लिए, जिससे आरसीबी की टीम 17 ओवर में पांच विकेट पर 113 रन पर पहुंच गई। वह आई। आरसीबी ने आखिरी तीन ओवर में 25 रन जोड़े और दो विकेट गंवाए।

Posted By: Arvind Dubey