कोलकाता, एजेंसी। रोहित शर्मा और रविचंद्रन अश्विन ने ईडन गार्डन्स स्टेडियम में वेस्टइंडीज के साथ जारी पहले टेस्ट मैच के तीसरे दिन शतकीय पारियां खेलकर भारत की ओर से सातवें विकेट के लिए सबसे बड़ी साझेदारी को अंजाम दिया। अपने करियर के पहले ही मैच में शतक लगाने वाले रोहित 177 रन बनाकर आउट हुए, जबकि अश्विन ने 124 रनों का योगदान दिया। अश्विन ने अपने करियर का दूसरा शतक लगाया। उन्होंने पहला शतक भी वेस्टइंडीज के खिलाफ ही बनाया था।

दूसरे दिन का खेल खत्म होने तक 127 रनों पर नाबाद लौटे रोहित ने 254 गेंदों पर अपने 150 रन पूरे किए, जबकि अश्विन ने 159 गेदों पर सैकड़ा जड़ा। इन दोनों के बीच सातवें विकेट के लिए 280 रनों की साझेदारी हुई। इन दोनों ने दिलीप वेंगसरकर और रवि शास्त्री के बीच 1986 में हुई 259 (नाबाद) की साझेदारी को पीछे छोड़ा। ऑस्ट्रेलिया के खिलाफ मुंबई में खेले गए मैच में वेंगसरकर ने नाबाद 164 रन बनाए थे, जबकि शास्त्री 121 रनों पर नाबाद लौटे थे। इसके अलावा भारत ने 2010 में वीवीएस लक्ष्‍मण और महेन्‍द्र सिंह धोनी ने भी 259 रनों की साझेदारी की थी।

ईडन में सबसे बड़ी साझेदारी का रिकॉर्ड 376 रनों का है, जो राहुल द्रविड़ और वीवीएस लक्ष्मण के नाम है। इन दोनों ने 2001 में ऑस्ट्रेलिया के खिलाफ मैच जिताऊ साझेदारी को अंजाम दिया था।

रोहित और अश्विन ने मुश्किल क्षण में टीम के लिए अहम योगदान दिया। एक समय भारत ने 83 रनों पर पांच विकेट गंवा दिए थे, लेकिन रोहित ने कप्तान महेंद्र सिंह धोनी (42) और फिर अश्विन के साथ उपयोगी साझेदारियां करते हुए भारत को अहम बढ़त दिला दी। रोहित शर्मा पर्दापण शतक लगाने वाले 14वें भारतीय हैं। ईडन में इससे पहले दीपक सोधन (1952) और मोहम्मद अजहरुद्दीन (1984) ने पर्दापण करते हुए शतक लगाए थे।

Posted By:

नईदुनिया ई-पेपर पढ़ने के लिए यहाँ क्लिक करे

नईदुनिया ई-पेपर पढ़ने के लिए यहाँ क्लिक करे

डाउनलोड करें नईदुनिया ऐप | पाएं मध्यप्रदेश, छत्तीसगढ़ और देश-दुनिया की सभी खबरों के साथ नईदुनिया ई-पेपर,राशिफल और कई फायदेमंद सर्विसेस

डाउनलोड करें नईदुनिया ऐप | पाएं मध्यप्रदेश, छत्तीसगढ़ और देश-दुनिया की सभी खबरों के साथ नईदुनिया ई-पेपर,राशिफल और कई फायदेमंद सर्विसेस