नई दिल्ली। मास्टर ब्लास्टर सचिन तेंडुलकर ने मैदान में तो अनगिनत रिकॉर्ड बनाए हैं, लेकिन मैदान के बाहर एक रूटीन काम की बदौलत सचिन फिर चर्चाओं में हैं। सचिन ने पहली बार महिला बारबर (नाई) से शेविंग कराई और ऐसा पहली बार हुआ। सचिन ने अपने सोशल मीडिया अकाउंट पर महिला बारबर नेहा और ज्योति से शेविंग कराते हुए फोटो पोस्ट की। सचिन ने इस पर खुशी भी जाहिर की और इन दोनों युवतियों को स्कॉलरशिप प्रदान की।

दरअसल सचिन देश में लिंग समानता और लिंग संबंधित रूढ़िवादिता को तोड़ने के लिए काम कर रहे हैं। इसी के तहत सचिन ने महिला बारबर से शेविंग कराई। उन्होंने अपने पोस्ट में लिखा कि वे नेहा और ज्योति से शेव कराने पर काफी खुश हैं। आज एक रिकॉर्ड और टूट गया। अब तक वे पुरुष बारबर से ही शेविंग कराते थे, लेकिन पहली बार नेहा और ज्योति से शेव कराकर वे गौरवान्वित महसूस कर रहे हैं।

बता दें कि उत्तर प्रदेश की बनवारी तोला गांव की रहने वाली नेहा और ज्योति साल 2014 से इस प्रोफेशन में हैं। ये दोनों युवतियां अपने पिता के बीमार होने के बाद से इस पेशे में आईं। शुरुआत में दोनों को काफी परेशानी का सामना करना पड़ा क्योंकि कई भी महिला बारबर से शेविंग कराने या हेयर कट के लिए नहीं आते थे। जिलेट कंपनी ने अपने विज्ञापन में इन युवतियों की प्रेरणादाई कहानी का उजागर किया। इसे लोग काफी पसंद कर रहे हैं। इसे देखकर ही सचिन ने इन युवतियों से शेविंग कराने पहुंचे। बाद में सचिन तेंडुलकर ने इसे सोशल मीडिया पर पोस्ट किया।

सचिन ने इन दोनों युवतियों को स्कॉलरशिप भी प्रदान की जिसके तहत इन युवतियों की शैक्षणिक और पेशेवर जरूरतों को पूरा किया जाएगा।