नई दिल्ली। महान क्रिकेटर सुनील गावस्कर ने आगामी वेस्टइंडीज दौरे के लिए विराट कोहली के कप्तान के रूप में स्वाभाविक चयन पर सवाल उठाए थे। पूर्व क्रिकेटर और कमेंटेटर संजय मांजरेकर ने गावस्कर की राय से असहमति जताई है।

वर्ल्ड कप में टीम इंडिया के सेमीफाइनल में पराजित होने के बाद विराट कोहली के नेतृत्व पर उंगलियां उठाई जा रही थी। यह सवाल भी उठ रहा था कि क्या उन्हें कप्तान बनाए रखना चाहिए। गावस्कर ने सोमवार को मिड-डे में लिखे अपने कॉलम में सिलेक्टर्स को कठघरे में खड़ा किया था। उन्होंने लिखा था कि सिलेक्टर्स ने वेस्टइंडीज दौरे के लिए कप्तान का चयन बिना किसी मीटिंग के करने से यह सवाल उठता है कि क्या कोहली अपनी वजह से टीम के कप्तान हैं या फिर चयन समिति की खुशी के कारण हैं। हमारी जानकारी के अनुसार विराट की कप्तान के रूप में नियुक्ति वर्ल्ड कप तक थी। इस वजह से सिलेक्टर्स को वेस्टइंडीज दौरे के लिए टीम चयन के पहले कप्तान को चुनना चाहिए था।

गावस्कर की राय से असहमति जताते हुए मांजरेकर ने ट्वीट किया। उन्होंने लिखा- मैं भारतीय सिलेक्टर्स और विराट कोहली को कप्तान बनाए रखने के मामले में पूरे आदर के साथ गावस्कर सर की राय से असहमति व्यक्त करता हूं। भारत ने वर्ल्ड कप 2019 में सात मैच जीते जबकि मात्र दो मैचों में उसे हार मिली, इनमें से भी एक मैच बेहद करीबी रहा। इसके चलते इस प्रदर्शन को स्तरहीन नहीं कहा जा सकता है। सिलेक्टर्स के लिए खिलाड़ी के रुतबे से ज्यादा इमानदारी महत्वपूर्ण होती है।

Posted By: Kiran Waikar

  • Font Size
  • Close