राजकोट। Shikhar Dhawan injured: भारतीय सलामी बल्लेबाज शिखर धवन ऑस्ट्रेलिया के खिलाफ दूसरे वनडे मैच के दौरान चोटिल हो गए। पैट कमिंस की तेज बाउंसर शिखर को सीधे पसलियों में लगी। शिखर चोट के कारण इस मैच से बाहर हो गए हैं। बता दें कि मुंबई में खेले गए पहले वनडे में कमिंस की गेंद हेलमेट में लगने के कारण रिषभ पंत बाहर हो गए थे। इस तरह 2 वनडे मैचों में भारत के 2 खिलाड़ी घायल हो गए हैं।

ऐसे हुए चोटिल

राजकोट वनडे में शिखर को भारतीय पारी के 10वें ओवर में चोट लगी। पैट कमिंस के ओवर की दूसरी गेंद शिखर को सीधे पसलियों में लगी। शिखर ने उस गेंद पर दौड़कर एक लेग बाई रन तो लिया, लेकिन जैसे ही वे नॉन स्ट्राइकर एंड पर पहुंचे, वे ग्राउंड में बैठ गए। टीम के डॉक्टर और फिजियो द्वारा जांच के बाद शिखर ने खेलना जारी रखा। बाद में टीम के लिए सबसे ज्‍यादा 96 रन की पारी खेली। हालांकि वे अपना 18वां वनडे शतक नहीं बना पाए और केन रिचर्डसन की गेंद पर आउट हो गए।

BCCI ने किया ट्वीट

BCCI ने ट्वीट कर शिखर की चोट के बारे में अपडेट देते हुए बताया कि उन्हें दाईं तरफ पसलियों में चोट लगी है। इस कारण वे फील्डिंग नहीं करेंगे। उनके स्थान पर युजवेंद्र चहल फील्डिंग करेंगे।

बताया जा रहा है कि ऐहतियात के तौर पर शिखर धवन का स्कैन कराया जाएगा। यदि उनकी पसलियों में फ्रैक्चर निकला तो उन्हें फिर लंबे समय के लिए टीम से बाहर रहना पड़ सकता है। बता दें कि शिखर की तरह रिषभ पंत भी मुंबई वनडे में पैट कमिंस की बाउंसर पर चोटिल हुए थे। रिषभ को भी कान के पास हेलमेट पर तेज बाउंसर लगी थी। उसी गेंद पर वे आउट भी हो गए थे। चोट लगने के बाद जब वे पैवेलियन लौट रहे थे तब उन्हें चक्कर आ गए थे। इस कारण रिषभ बाद में पहले वनडे में कीपिंग के लिए मैदान में नहीं आए। उनके स्थान पर केएल राहुल ने कीपिंग की। रिषभ पंत का भी सीटी स्कैन कराया गया। चोट के कारण ही वे दूसरे वनडे मैच से बाहर हो गए।

लगातार हो रहे चोटिल

बहरहाल शिखर और चोट का करीबी रिश्ता है। शिखर हाल के समय में कई बार चोटिल हो चुके हैं। इसकी शुरुआत इंग्लैंड में हुए आईसीसी वर्ल्ड कप से शुरू हुई। संयोग से वर्लड कप में ऑस्ट्रेलिया के खिलाफ मैच में ही शिखर को चोट लगी थी। तब उन्हें नाथन कुल्टर नाइल की गेंद अंगूठे पर लगी थी। इस मैच में धवन ने शानदार 117 रनों की पारी खेली थी। चोट के कारण वे टूर्नामेंट से बाहर हो गए और वे दो महीने तक क्रिकेट से दूर रहे। उन्होंने घरेलू क्रिकेट से वापसी की तो मुश्ताक अली ट्रॉफी टूर्नामेंट में उन्हें घुटने में गंंभीर चोट लगी और उन्हें 27 टांके लगाने पड़े। इस कारण भी धवन करीब एक महीने मैदार से बाहर रहे।

Posted By: Rahul Vavikar

fantasy cricket
fantasy cricket