इंदौर। इंदौर में खेले जा रहे मुश्ताक अली टी-20 ट्रॉफी क्रिकेट के 2 मुकाबलों में बल्लेबाजों का शानदार प्रदर्शन देखने को मिला है। मुंबई के श्रेयस अय्यर ने जहां कमजोर सिक्किम के खिलाफ तूफानी शतक जमाया, वहीं चेतेश्वर पुजारा ने सौराष्ट्र के लिए खेलते हुए रेलवे के खिलाफ शानदार शतक लगाया।

इंदौर के एमरल्ड हाईट्स स्कूल मैदान पर खेलते हुए श्रेयस ने सिक्किम के गेंदबाजों की जमकर धुनाई की। उन्होंने सिर्फ 55 गेंदों में 147 रनों की तूफानी पारी खेली। श्रेयस की धमाकेदार पारी का अंदाजा इससे लगाया जा सकता है कि उन्होंने अपनी पारी में 15 छक्के और 7 चौके लगाए। यानि ये 118 रन सिर्फ 22 गेंदों में बनाए।

श्रेयस ने ये 147 रनों की पारी खेलकर नया रिकॉर्ड भी बनाया। इसके साथ ही उन्होंने टी-20 क्रिकेट में रिषभ पंत के रिकॉर्ड को तोड़ा। इससे पहले पंत ने 128 रन बनाए थे जो किसी भी टी-20 मैच में खेली जाने वाली सबसे बड़ी पारी थी। श्रेयस के इस तूफानी शतक से मुंबई ने सिक्किम के खिलाफ 4 विकेट पर 258 रनों का बड़ा स्कोर बनाया।

मुंबई की टीम ने 258 रन बनाए। टीम यदि 6 रन और बना लेती तो वो भी किसी भी टी-20 मैच में सबसे ज्यादा रन बनाने का रिकॉर्ड भी हो जाता। बहरहाल इस मैच में शुरू से ही मुंबई का पलड़ा भारी माना जा रहा था और उसके खिलाड़ियों ने वैसा ही प्रदर्शन किया।

इधर इंदौर के ही होलकर स्टेडियम सौराष्ट्र और रेलवे के बीच मुकाबला हुआ। टेस्ट क्रिकेट में बेहद भरोसेमंद माने जाने वाले चेतेश्वर पुजारा अलग ही रंग इस मैच में नजर आए। सौराष्ट्र के लिए खेलते हुए उन्होंने रेलवे के खिलाफ अपनी स्टाइल के विपरित तेज बल्लेबाजी की। पुजारा ने केवल 61 गेंदें खेलते हुए 14 चौकों और एक छक्के की मदद से शतक जमाया।

हालांकि पुजारा का ये ताबड़तोड़ शतक उनकी टीम को रेलवे के खिलाफ जीत नहीं दिला पाया। सौराष्ट्र के 3 विकेट पर 188 के जवाब में रेलवे ने ये लक्ष्य 5 विकेट खोकर हासिल कर लिया और मैच जीत लिया।

लेकिन पुजारा की इस तेज बल्लेबाजी से क्रिकेट फैंस हैरान हैं। धीमी और कलात्मक बल्लेबाजी के चलते पुजारा टेस्ट टीम के तो अहम सदस्य हैं, लेकिन उन्हें वनडे और टी-20 क्रिकेट के लिए जगह नहीं दी गई है। यहां तक की आईपीएल की किसी भी टीम ने उन्हें नहीं खरीदा है। आईपीएल 2019 में उनका बेस प्राइज 50 लाख था, लेकिन किसी भी फ्रेंचाइजी ने उनको खरीदने में दिलचस्पी नहीं दिखाई। 2014 में पुजारा किंग्स इलेवन पंजाब के लिए आईपीएल में नजर आए थे। लेकिन मुश्ताक अली ट्रॉफी में रेलवे के खिलाफ शतक जमा कर पुजारा ने संकेत दे दिए हैं की वो इस फॉर्मेट में भी बल्लेबाजी कर सकते हैं।