कानपुर टेस्ट मैच में श्रेयस अय्यर (Shreyas Iyer) ने दूसरी पारी में भी अर्धशतक जमा कर इतिहास रच दिया है। इससे पहले उन्होंने पहली पारी में शानदार शतक जमाया था। इस तरह श्रेयस अय्यर पिछले 50 सालों में अपने डेब्यू मैच में दोनों पारियों में अर्धशतक लगानेवाले पहले भारतीय बल्लेबाज बन गये हैं। इससे पहले साल 1971 में सुनील गावस्कर ने ये कारनामा किया था। सुनील गावस्कर ने 1971 में वेस्टइंडीज के खिलाफ अपने डेब्यू टेस्ट मैच की दोनों पारियों में क्रमश: 65 और 67 रन बनाए थे। उनके बाद किसी बल्लेबाज को अपने डेब्यू मैच में ये कामयाबी नहीं मिली। लेकिन रविवार को श्रेयस अय्यर ने अपने बल्ले से ये कारनामा दोहराया। आपको बता दें कि कि श्रेयस अय्यर को डेब्यू कैप भी सुनील गावस्कर ने ही पहनाया था।

श्रेयस अय्यर ने पहली पारी में 105 रन की पारी खेली थी तो वहीं दूसरी पारी में भी 65 रन बनाकर आउट हुए। 50 साल के बाद ऐसा पहली बार हुआ, जब किसी भारतीय बल्लेबाज ने डेब्यू टेस्ट मैच की दोनों पारियों में 50 प्लस का स्कोर बनाया हो। इस ऐतिहासिक कारनामे के अलावा श्रेयस अय्यर पहले भारतीय बन गए हैं जिनके नाम डेब्यू टेस्ट की एक पारी में शतक और दूसरी पारी में अर्धशतक लगाने का कमाल दर्ज है।

कानपुर टेस्ट मैच में पहली पारी में अय्यर ने शानदार 105 रन बनाए थे और भारत को बढ़त दिलाने में अहम भूमिका निभाई। दूसरी पारी में भारतीय पारी लड़खड़ा गई थी, और 51 रनों के स्कोर पर 5 विकेट गिर गये थे। लेकिन श्रेयस अय्यर और वृद्धिमान साहा (67*) की साहसिक पारी की बदौलत भारत ने न्यूजीलैंड को 284 रनों का लक्ष्य दिया है।

Posted By: Shailendra Kumar