कोलंबो, एजेंसी। श्रीलंका क्रिकेट (एसएलसी) ने आईसीसी के प्रशासनिक ढांचे में फेरबदल के प्रस्ताव का विरोध करने का निर्णय लिया है।

एसएलसी की बैठक में भारत, इंग्लैंड और ऑस्ट्रेलिया के इस प्रस्ताव का विरोध करने का निर्णय लिया गया। इस फेरबदल से वैश्विक क्रिकेट के 'बिग थ्री' को ज्यादा लाभ होने वाला है। इस प्रस्ताव को सिंगापुर में 8 फरवरी को होने वाली आईसीसी की बैठक में पास होना है।

एसएलसी की बुधवार को हुई इस अहम बैठक में कई पूर्व कप्तानों ने भी हिस्सा लिया, इनमें प्रमुख रूप से सनथ जयसूर्या और हसन तिलकरत्ने भी शामिल थे। देश के खेल मंत्रालय के प्रतिनिधि भी बैठक में उपस्थित थे।

बैठक के बाद जारी बयान में एसएलसी ने कहा- बैठक में सभी इस बात पर राजी थे कि मंगलवार को संपन्न कार्यकारी बैठक द्वारा लिए गए निर्णय का ही पालन किया जाए। इसके तहत आईसीसी के प्रस्तावित ड्राफ्ट का विरोध करना है। एसएलसी की कार्यसमिति चाहती है कि श्रीलंकाई क्रिकेट के हितों की रक्षा की जाए। बीसीसीआई समय-समय पर एसएलसी की मदद करती रही है, लेकिन इस बार उसे श्रीलंका से विरोध का सामना करना पड़ेगा।

Posted By: