कोलकाता। पूर्व भारतीय कप्तान सौरव गांगुली बीसीसीआई के अध्यक्ष बनने जा रहे हैं। गांगुली सिर्फ 10 महीनों तक ही अध्यक्ष पद पर बने रहेंगे लेकिन यह पद संभालने के चक्कर में उन्हें कम से कम सात करोड़ रुपए का नुकसान हो सकता है।

47 वर्षीय गांगुली फिलहाल कमेंट्री भी करते हैं और व्यावसायिक विज्ञापनों से भी जुड़े हैं। इसी के चलते उन्हें बीसीसीआई अध्यक्ष बनने से काफी बड़ी रकम का नुकसान होगा। अध्यक्ष बनने के बाद गांगुली को कमेंट्री छोड़नी पड़ेगी। इतना ही नहीं अब वह कोई नए व्यापारिक करार नहीं कर सकते। वह आईसीसी इवेंट में कमेंट्री नहीं कर सकते। वे अब आईपीएल की टीम दिल्ली कैपिटल्स के सलाहकार पद पर नहीं रह सकते हैं।

बीसीसीआई अध्यक्ष के तौर पर गांगुली का कार्यकाल अधिकतम 10 महीने का होगा क्योंकि वह इससे पहले पांच साल दो महीने तक कैब के संयुक्त सचिव व अध्यक्ष पद पर रह चुके हैं। जय शाह भी इससे पहले गुजरात क्रिकेट संघ के संयुक्त सचिव रह चुके हैं और वे लगभग एक साल तक ही बोर्ड के सचिव पद पर रह सकेंगे।

बीसीसीआइ के अगले अध्यक्ष बनने जा रहे गांगुली का मंगलवार शाम कोलकाता लौटने पर ईडन गार्डंस स्टेडियम स्थित बंगाल क्रिकेट संघ (CAB) के मुख्यालय में भव्य स्वागत किया गया। गांगुली शाम को मुंबई से कोलकाता के अंतरराष्ट्रीय हवाई अड्डे पर पहुंचे। वहां बड़ी संख्या में उनके प्रशंसक मौजूद थे। सौरव वहां से सीधे ईडन गार्डेंस के लिए रवाना हो गए। सौरव के अध्यक्ष बनने की खुशी में एक केक भी लाया गया था, जिसे दादा ने काटा।

गांगुली के मार्गदर्शन में तरक्की करेगा बीसीसीआई :

भारतीय टीम के पूर्व बल्लेबाज वीवीएस लक्ष्मण ने बीसीसीआई के नए अध्यक्ष सौरव गांगुली को बधाई दी और कहा कि उन्हें पूरा भरोसा है कि भारतीय क्रिकेट उनके मार्गदर्शन में तरक्की करेगा। लक्ष्मण ने ट्वीट किया, 'सौरव को बीसीसीआई अध्यक्ष बनने की बधाई। मुझे इसमें कोई शक नहीं कि उनकी कप्तानी में भारतीय क्रिकेट तरक्की करेगा। नई भूमिका के लिए शुभकामनाएं दादा।' गांगुली ने जवाब में लिखा, 'शुक्रिया वीवीएस। आपका योगदान काफी अहम रहेगा।'

Posted By: Kiran Waikar