नई दिल्ली। Sourav Ganguly on Pink ball test: भारतीय क्रिकेट कंट्रोल बोर्ड (BCCI) के अध्यक्ष सौरव गांगुली ने डे नाइट टेस्ट खेलने को लेकर बड़ा बयान दिया है। गांगुली का मानना है कि वे भारतीय टीम को हर सीरीज में एक टेस्ट पिंक बॉल से खेलना चाहिए। बता दें कि भारत ने हाल ही में बांग्लादेश के खिलाफ अपना पहला पिंक बॉल टेस्ट खेला। भारत डे नाइट टेस्ट खेलने वाला 7वां देश बना।

बता दें कि भारतीय टीम के पिछले दौरे पर ऑस्ट्रेलियाई टीम ने उसे डे नाइट टेस्ट खेलने का प्रस्ताव दिया था, लेकिन तब टीम इंडिया ने प्रैक्टिस के अभाव में खेलने से इंकार कर दिया था। गांगुली ने टीम इंडिया और बांग्लादेश टीम को पिंक बॉल टेस्ट के लिए राजी किया और हाल ही में दोनों टीमों ने अपना पहला डे नाइट टेस्ट खेला।

अब गांगुली ने कहा- डे नाइट टेस्ट मैच आयोजित होते रहना चाहिए। मैं चाहता हूं कि भारतीय टीम भी हर सीरीज में कम से कम एक डे नाइट टेस्ट मैच जरूर खेले। मैं इसे लेकर बहुत उत्साहित हूं क्योंकि ये टेस्ट क्रिकेट को आगे बढ़ाने के लिए अच्छी पहल है। हर टेस्ट नहीं लेकिन हर सीरीज में कम से कम एक टेस्ट मैच डे नाइट जरूर खेला जाए। भारतीय टीम को भी चाहिए कि वो सीरीज में कम से कम एक डे नाइट टेस्ट खेलने का मन बनाए।

गांगुली नेआगे कहा- मैं बोर्ड के सभी संघों के साथ इस टेस्ट के अपने अनुभव साझा करूंगा। हम कोशिश करेंगे कि अन्य सेंटरों पर भी पिंक बॉल टेस्ट की व्यवस्था हो।

दरअसल भारत और बांग्लादेश के बीच कोलकाता के ईडन गार्डंस में ऐतिहासिक डे नाइट टेस्ट खेला गया। गांगुली ने इसे सफल बनाने में कोई कोर कसर बाकी नहीं छोड़ी। दर्शकों के लिहाज से ये टेस्ट जबर्दस्त सफल रहा। भारत ने अपना ये पहला पिंक बॉल टेस्ट पारी और 46 रन से जीता।

BCCI ने भारत के इस पहले पिंक बॉल टेस्ट के लिए कोलकाता शहर को भी पिंक बना दिया था। शहर के प्रमुख स्थलों और इमारतों पर गुलाबी रंग से रोशनी की गई थी। इसके अलावा बांग्लादेश की प्रधानमंत्री शेख हसीना सहित कई जानी-मानी हस्तियों को आमंत्रित किया गया था।

Posted By: Rahul Vavikar