मुंबई। बीसीसीआई के 23 अक्टूबर को होने वाले चुनावों में अध्यक्ष पद के लिए सौरव गांगुली का निर्विरोध चुना जाना तय हो गया है। वहीं आईपीएल शासी निकाय के प्रमुख की जिम्मेदारी ब्रजेश पटेल संभाल सकते हैं। रविवार को मुंबई में हुई देश के सभी राज्य संघों की अहम बैठक में इन पदों पर एकराय बन गई। सोमवार सुबह तक अन्य पदों पर भी फैसला हो जाएगा, जिससे चुनाव की नौबत न आए।

लंबे समय से सुप्रीम कोर्ट द्वारा नियुक्त प्रशासकों की समिति ही बीसीसीआई चला रही थी। अब चुनाव में आपसी खींचतान छोड़ एकजुटता दिखाने की कवायद हो रही है। चुनावी रणनीति के लिए इस अहम बैठक में इंदौर के राजूसिंह चौहान को बुलाया गया था, जिन्हें बोर्ड चुनावों के लिए एमपीसीए ने अपना प्रतिनिधि नियुक्त किया है। प्रदेश में क्रिकेट और राजनीति में ज्योतिरादित्य सिंधिया के खास माने जाने वाले चौहान ने सभी क्षत्रपों से विभिन्ना मुद्दों पर चर्चा की।

जब गांगुली का नाम तय हुआ तो चौहान के फोन पर ही सिंधिया ने उन्हें शुभकामनाएं दीं। इस दौरान गांगुली की चौहान से भी चर्चा हुई। इसी तरह पटेल को भी उन्होंने शुभकामनाएं दीं। बैठक में बीसीसीआई के पूर्व प्रमुख एन. श्रीनिवासन, पूर्व प्रमुख अनुराग ठाकुर, हैदराबाद क्रिकेट संगठन के अध्यक्ष बने पूर्व कप्तान मो. अजहरुद्दीन के अलावा भारत के गृहमंत्री अमित शाह के बेटे जय शाह और राजस्थान के मुख्यमंत्री अशोक गेहलोत के बेटे वैभव भी मौजूद थे।

शाह बन सकते हैं सचिव, अरुण को मिल सकता है "कोष" :

सूत्रों के अनुसार गृहमंत्री अमित शाह के बेटे जय बोर्ड के नए सचिव बन सकते हैं। वहीं पूर्व अध्यक्ष अनुराग ठाकुर के भाई अरुण को कोषाध्यक्ष बनाया जा सकता है।इंदौर के प्रसून भी रहे बैठक का हिस्सा : एमपीसीए के पूर्व सचिव मिलिंद कनमड़ीकर के बेटे प्रसून भी बैठक का हिस्सा थे। प्रसून बीते सालों में बीसीसीआई की कानूनी लड़ाई के दौर में विधिक सलाहकार दल में शामिल रहे थे। अपने कानूनी ज्ञान के कारण उन्हें इस अहम रणनीतिक बैठक में आमंत्रित किया गया था।

Posted By: Arvind Dubey